प्रथम जैव-विविधता किज में सतना टीम बनी विजेता

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी और वन मंत्री उमंग सिंघार ने पर्यावरण संरक्षण की दिशा में देश में पहली बार मध्यप्रदेश में पिछले माह शुरू हुए अनूठे जैव-विविधता संरक्षण क्विज कार्यक्रम का आज विजेताओं को पुरुस्कृत कर समापन किया। सभी 52 जिलों की प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान प्राप्त विजेता टीमों ने राज्य-स्तरीय क्विज प्रतियोगिता में भाग लिया। इनमें से फाइनल में पहुँची 7 टीमों में से सतना टीम ने प्रथम, अनूपपुर ने द्वितीय और शाजापुर ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। जिला और राज्य-स्तर पर हुई क्विज प्रतियोगिताओं में 8 हजार स्कूली बच्चों ने भाग लिया और लगभग 3 लाख लोगों तक जैव-विविधता के संरक्षण से पृथ्वी पर जीवन रक्षा के लिये इसकी अनिवार्यता का संदेश भी पहुंचा। 


प्रथम जिला सतना टीम-आर्य त्रिवेदी, प्रियांश गौतम, श्रेयांश जायसवाल। द्वितीय जिला अनूपपुर टीम-प्रियांश नामदेव, आशीष पाण्डे, पियूष गर्ग। तृतीय जिलाशाजापुर टीम-मयंक मालवीय, जय प्रकाश, ऋषका चन्द्रवंशी। मंत्री डॉ. चौधरी ने जैव-विविधता बोर्ड की इस अनूठी पहल की सराहना करते हुए कहा कि इस प्रयास से भावी पीढ़ी को जैव-विविधता संरक्षण के लाभ और दुष्प्रभावों की जानकारी मिली। उन्होंने कहा कि तेजी से विनाश की ओर बढ़ते जलवायु परिवर्तन को संतुलित करने में ऐसे प्रयासों से मदद मिलेगी। वन मंत्री उमंग सिंघार ने कहा कि मानव जीवन की हर आवश्यकता पृथ्वी से जुड़ी है। विकास की दौड़ में हवा-पानी की अशुद्धि के साथ पेड़-पौधे भी खत्म होते जा रहे हैं। पृथ्वी पर पर्यावरणीय संतुलन बनाए रखने के लिये पहली आवश्यकता है जैव-विविधता संरक्षण। वन विभाग और स्कूल शिक्षा विभाग के संयुक्त प्रयास से आयोजित यह क्विज कार्यक्रम भावी पीढ़ी को जागरूक करने के साथ पर्यावरण संरक्षण की दिशा में एक कारगर प्रयास है। इसके दूरगामी सुपरिणाम देश, प्रदेश और विश्व का मार्गदर्शन करेंगे। मंत्रीद्वय ने जैव-विविधता के ब्रॉण्ड एम्बेसडर के रूप में श्रीमती सीता सहाय, बाबूलाल दाहिया, सोनू सिंह, सुश्री सुधा धुर्वे, विक्रांत, भालू मोढ़े, विष्णु अधिकारी, सुभक्ति वासानी, सुश्री कनिका तिवारी और रमेशचन्द्र को सम्मानित किया। इस मौके पर क्विज प्रतियोगिता का आइडिया देने वाले नीलेश चौबे का भी सम्मान किया गया।सदस्यसचिव, मध्यप्रदेश राज्य जैव-विविधता बोर्ड श्रीनिवास मूर्ति ने बताया कि इस वर्ष राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की 150वीं जयंती से आरंभ यह क्विज कार्यक्रम हर साल होगा। जिला स्तर पर विजेता टीम को क्रमश-रुपये 3000, 2100 और 1500 तथा राज्य स्तर पर 30 हजार, 21 हजार और 15 हजार का पहला, दूसरा और तीसरा पुरस्कार दिया गया। मंत्रीद्वय ने इस अवसर पर 15 दिसम्बर से प्रदेश में आरंभ होने वाले अनुभूति कार्यक्रम के लोगो का लोकार्पण किया। प्रधान मुख्य वन संरक्षक राजेश श्रीवास्तव, एस.के. मण्डल, आनंद बिहारी गुप्ता, एस.पी. रयाल, भरत कुमार शर्मा और रमेश कुमार गुप्ता, भारतीय वन प्रबंध संस्थान के संचालक डॉ. पंकज श्रीवास्तव और आयुक्त, लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएँ, शिक्षक और मास्टर ट्रेनर्स उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

आज से खुलेंगी किराना दुकानें, खरीद सकेंगे राशन, प्रशासन ने तय किए सब्जी के रेट, देखें लिस्ट

3 जिले पूरी तरह सील, 11 जिलों में टोटल लॉकडाउन, बाहर निकले तो होगी FIR

आपदा प्रबन्धन समिति में गरीबों को भोजन देने का जिम्मेदारी साहब को दी गई है पर साहब अपने कुछ खास मित्रो का ज्यादा ख्याल करते दिखे ये वही है जिनके ऊपर घोटालों की लम्बी लिस्ट तैयार है,