बालिका शिक्षा को प्रोत्साहन देने हेतु रिलायंस सी बी एम सी आर प्रोजेक्ट ने शुरू  की निःशुल्क  बस सुविधा

कलेक्टर ने हरी झंडी दिखाकर बस को किया रवाना
शहडोल 18 सितम्बर 2019ः-  जैसा कि  कहा जाता है कि यदि एक बालक को पढ़ाएगे तो केवल एक व्यक्ति  ही शिक्षित हो पायेगा लेकिन यदि एक  बालिका को सही समय पर पढ़ने  का अवसर दिया जाये तो पूरा परिवार शिक्षित होता जाता है  एवं शासन  के महत्वपूर्ण  मिशन बेटी  पढ़ाओं बेटी बचाओं   को मानकर रिलायंस  सीबीएम आर प्रोजेक्ट  के अतंर्गत  रिलायंस  फाउंडेशन  द्वारा बालिका  शिक्षा को  प्रोत्सहित  करने के उदेश्य  से निःशुल्क   स्कूल एवम काॅलेज  बस का संचालन  रिलायंस  फाउंडेशन द्वारा बालिका  द्वारा पिछले  04 वर्षांे  से किया जा रहा है एवं दक दूसरी बस  सेवा का प्रारंभ  आज 18  सितम्बर 2019 को हाई स्कूल  नवलपुर में कलेक्टर  श्री ललित दाहिमा  एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री पार्थ जायसवाल  के द्वारा बस  को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। इस अवसर पर अनुविभागीय  अधिकारी  राजस्व सोहागपुर, तहसीलदार सोहागपुर , जिला शिक्षा अधिकारी,  जिला शहडोल, सरपंच ग्राम पंचायत नवलपुर तथा रिलायंस  सी.बी.एम. प्रोजेक्ट से श्री बिजित  झां, राजीव श्रीवास्तव एवं अन्य अधिकारी, कर्मचारी तथा ग्रामवासी एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित रहें।



   बालिकाओं एवं उनके पालकों  के अतिउत्साह  को देखकर एवं सरपंच  एवं बालिकाओं  के अभिभावकों की मांग के अनुसार  तथा कलेक्टर  जिला शहडोल  के दिशानिर्देशन  में इसी श्रृंखला को आगे बढ़ाते हुये  एक नयी  36 सीटर बस की शुरूआत  13 ग्रामों  में की जा रही है। इस बस  के माध्यम से नवलपुर, नन्दना, खितौली, धुरवार, हर्री, रायपुर सेंदुरी, भर्री, मैका, बड़खेरा इत्यादि ग्रामों  की 100-110 बालिकाओं को इस वर्ष  उच्च शिक्षा  हेतु बस सुविधा  उपलब्ध कराई जा रही है।



 शासकीय  रिकाॅर्ड  के अनुसार शहडोल जिले की साक्षरता  दर 66.67 है, जिसमें  महिला साक्षरता  दर केवल  56.99  है अधिकांश बालिकाएं उच्च  शिक्षा से वंचित  रह जाती है, जिसमें  मुख्य कारण बालिकाओं  को उच्च शिक्षा हेतु स्कूल एवं काॅलेज  तक जाने हेतु परिवहन  व्यवस्था अभाव पाया गया। 



   बालिकाओं को उनकी निरतंर एवं उच्च शिक्षा  हेतु पे्ररित  करने के उदेश्य  से  रिलायंस फाउडेशन ने बालिकाओं के द्वार  से स्कूल  एवं काॅलेज  तक के लिए 04  वर्ष  पूर्व 26 सीटर  बस की शुरूआत  की थी, इस बस से सोहागपुर  एवं बुढ़ार  विकासखण्ड  के 16 ग्रामों  की बालिकाओं को बुढ़ार काॅलेज जाने की व्यवस्था उपलब्ध कराई गयी है। इस बस  के स्थान पर 36 सीटर बस उपलब्ध  कराई गयी है। जिससे अधिक बालिकाएं  अपनी शिक्षा  को नियमित  कर सकें।