गडकरी बोले जब तक मैं हूं, देश में नहीं आने दूंगा ड्राइवरलेस कार🚘

Apna Lakshya News


देश✍ दुनिया के कई देशों में ड्राइवरलेस कारों का परीक्षण किया जा रहा है। गूगल समेत कई बड़ी कंपनियां इस पर काम कर रही हैं कि कैसे ड्राइवरलेस कारें सड़कों पर उतारी जाएं। माना जा रहा है कि ऐसा करने से आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की सहायता से सड़क दुर्घटनाओं को कम किया जा सकेगा। वहीं, देश के सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने साफ कहा है कि भारत में चालक रहित कारों को अनुमति नहीं दी जाएगी।



नितिन गडकरी ने कहा कि ऐसा करने से लाखों की संख्या में लोगों का रोजगार छिन जाएगा। देश की कई बड़ी हस्तियां मुझसे मिली हैं और उनका कहना है कि वे देश में चालक रहित वाहन लाना चाहते हैं। मैंने साफ कर दिया है कि जब तक मैं हूं, इस देश में ऐसी गाड़ियों को अनुमति नहीं मिलेगी। गडकरी बोले, 'मुझसे कहा गया कि क्या मैं नई तकनीक का विरोध कर रहा हूं, मैंने कहा कि ऐसा बिल्कुल नहीं है।'
गडकरी ने यहां खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग द्वारा चमड़े की टूल किट के वितरण समारोह में कहा कि देश में 40 लाख ड्राइवर हैं, 25 लाख ड्राइवरों की कमी है। मैं एक करोड़ लोगों का रोजगार नहीं छीन सकता हूं। इसके पहले, नितिन गडकरी ने कहा था कि पेट्रोल-डीजल वाहनों पर प्रतिबंध लगाने की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा था कि इलेक्ट्रॉनिक वाहन खुद-ब-खुद रफ्तार पकड़ रहे हैं। 


Popular posts from this blog

आज से खुलेंगी किराना दुकानें, खरीद सकेंगे राशन, प्रशासन ने तय किए सब्जी के रेट, देखें लिस्ट

3 जिले पूरी तरह सील, 11 जिलों में टोटल लॉकडाउन, बाहर निकले तो होगी FIR

आपदा प्रबन्धन समिति में गरीबों को भोजन देने का जिम्मेदारी साहब को दी गई है पर साहब अपने कुछ खास मित्रो का ज्यादा ख्याल करते दिखे ये वही है जिनके ऊपर घोटालों की लम्बी लिस्ट तैयार है,