हनी ट्रैप में फंसाकर झटका जा चुका है सांसद का टिकट

भाजपा प्रदेश संगठन मंत्री और राष्ट्रीय स्तर के एक नेता की रही थी प्रमुख भूमिका


 


Apna Lakshya news


मध्यप्रदेश में "हनी ट्रैप " मामले के खुलासें में हरपल चौंकाने वाली जानकारी आ रही है । सूत्रों के अनुसार लोकसभा 2014 के चुनाव के दौरान भी भारतीय जनता पार्टी के दो राष्ट्रीय स्तर के नेता ( जिनमें से एक की मृत्यु हो चुकी है ) और तत्कालीन प्रदेश संगठन मंत्री अरविंद मेनन को दबाब में लाकर एक नेता ने लोकसभा सदस्य प्रत्याशी का टिकट हथियाया था। 


उक्त लोकसभा क्षेत्र के अन्य कार्यकर्ताओं ने प्रदेश से लेकर राष्ट्रीय स्तर के नेताओं को इस मामले में मौखिक और लिखित शिकायत भी दर्ज कराई थी । पार्टी स्तर से इस मामले को दबा दिया गया । 


शिकायत के साथ दक्षिण राज्यों  के सितारा होटलों में पार्टी के नेता द्वारा रंगरेलियां मनाने के सबूत भी दिए गए थे । इस पूरे मामले में भारी भरकम लेन-देन भी किया गया था । उस समय सिर्फ लोकसभा का टिकिट दिलाने और इस मामले को दबाने के लिए पार्टी के एक राष्ट्रीय स्तर के नेता ने लगभग दो करोड़ रुपए वसूले भी थे ।


 हाल ही के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने अपने एक सांसद का टिकट हनी ट्रैप मामले में उलझने के चक्कर में काट दिया था । हांलांकि तत्तकालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस पूरे मामले को दबाने में प्रमुख भूमिका निभाई थी । वहीं हनीट्रैप मामलें में वसूली के प्रयास करते हुए गिरफ्त में आई एक अपराधी का टिकट अश्लील वीडियो क्लीपिंग सामने आने के बाद काट दिया गया था । इसी प्रकार भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय संगठन महामंत्री संजय जोशी  के एक कथित वीडियो क्लीपिंग के बाद उन्हें वनवास भोगने पर मजबूर कर दिया गया । यह मामला भी मध्यप्रदेश में उजागर हुआ था ।