इंदौर-वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इन्दौर की नई पहल,त्यैहारों में दिन-रात अनवरत्‌ ड्‌यूटी करने वाले पुलिस अधिकारियों/कर्मचारियों को किया सम्मानित।

इंदौर- मुस्तैदी से ड्‌यूटी करने वाले पुलिसकर्मियों को नगद ईनाम व प्रशस्ति पत्र देकर की हौसला अफजाई।


इंदौर-शहर में विगत दिनों से चले आ रहे त्यौहार गणशोत्सव,मोहर्रम,डोल ग्यारस व अनंत चतुर्दशी चल समारोह आदि पर्व व त्यौहारों की चुनौतीपूर्ण ड्‌यूटी को दिन-रात अनवरत रूप से करते हुए।इन त्यौहारों को शांतिपूर्ण एवं सौहार्दपूर्ण संपन्न करवाने में अहम भूमिका निभाने वाले पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इंदौर  श्रीमती रूचिवर्धन मिश्र द्वारा कल दिनांक 14.09.19 को पुलिस कंट्रोल रूम इंदौर में आयोजित मिटिंग के दौरान सम्मानित किया गया।


इस अवसर एसएसपी द्वारा इन त्यौहारों के दौरान दिन-रात पूर्ण मेहनत व मुस्तैदी के साथ इस चुनौतीपूर्ण ड्‌यूटी को सफलतापूर्वक संपन्न करवाने पर इंदौर पुलिस की प्रशंसा करते हुए बधाई दी साथ ही कहा कीआप सभी के सहयोग से ही हम शहर में आयोजित होने वाले इन महत्वपूर्ण उत्सव व त्यौहारों को शांतिपूर्णएवं सौहार्दपूर्ण रूप से करवा पाये है। 


जिसके लिये उन्होने सभी अधिकारियों/कर्मचारियों की हौसला अफजाई करते हुए


पुलिस अधीक्षक पूर्व युसूफ कुरैशी, पुलिस अधीक्षक पश्चिम श्रीमती कृष्णावेणी देसावातु,पुलिस अधीक्षक मुखयालय सूरज वर्मा सहित सभी अति. पुलिस अधीक्षकगण,नगर पुलिस अधीक्षगण,उप पुलिस अधीक्षकगण (यातायात), उप पुलिस अधीक्षक(लाईन),रक्षित निरीक्षक एवं सभी थाना प्रभारियों को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। 


उन्होने इन महत्वपूर्ण ड्‌यूटी में अहम भूमिका निभाने वाले उप निरीक्षको, सहायक उप निरीक्षकों,प्रधान आरक्षक तथा आरक्षकों को उनके द्वारा की गयी सराहनीय कार्य की प्रशंसा करते हुए उन्हे नगद इनाम से पुरस्कृत करने के आदेश भी दिये गये। 


इस दौरान इंदौर पुलिस को गौरवान्वित करने वाले पुलिस अधिकारी डॉ. प्रशांत चौबे को उनके द्वारा लिखित पुस्तक ''स्मार्ट पुलिसिंग'',जिसका विमोचन हाल ही में दिल्ली में माननीय केन्द्रीय गृह मंत्रीअमित शाह ने किया था।इसके लिये एसएसपी द्वारा श्री चौबे को परिवार सहित सम्मानित भी किया गया।
 
अंत में सभी अधिकारियों ने श्रीमती रुचिवर्धन मिश्र का अभिनंदन किया गया।


इस अवसर पर डीआईजी ने इंदौर अपराध शाखा के  निरीक्षक भारत सिंह ठाकुर को भी प्रशस्ति पत्र प्रधान किया।