कश्मीर मुद्दे को गर्माने के लिए इस महीने के आखिरी में सऊदी अरब जाएंगे इमरान

____इस्लामाबाद, एजेंसी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस महीने के अंत में सऊदी की यात्रा पर जाने वाले हैं। मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि वहां उनकी यह तीसरी यात्रा होगीएक पाकिस्तानी समाचार चैनल में कहा गया है कि 27 सितंबर को पहली बार अमेरिका में संयुक्त राष्ट महासभा को संबोधित करने से पहले खान सऊदी की यात्रा पर जाएंगे। इमरान खान पहले ही कह चुके हैं कि वह अपने भाषण में कश्मीर के मुद्दे को उठाएंगे। जबकि भारत लगातार यह स्पष्ट करता रहा है कि अनुच्छेद 370 को खत्म करना उसका आंतरिक मामला है।


                                                                                                               __ बताते चलें कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्या का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म किए जाने के हालांकिबाद बाद से पाकिस्तान लगातार कश्मीर मसले का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उठाने की कोशिश कर रहा है। हालांकि, पाकिस्तान के सदाबहार दोस्त चीन को छोड़कर किसी भी अन्य देश ने पाकिस्तान का साथ नहीं दिया है। यहां तक कि कई इस्लामिक देश भी इस मसले पर भारत के साथ खड़े हैं। एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि इस महीने की शुरुआत में सऊदी अरब के विदेश राज्य मंत्री अदेल अल-जुबैर ने रियाद में पाकिस्तान के राजदूत राजा अली एजाज के साथ मुलाकात की। इस दौरान इमरान खान की संभावित यात्रा के बारे में चर्चा की गई। यूएई के विदेश मंत्री और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के अंतर्राष्टीय मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायद बिन सुल्तान अल-नाहयान के साथ सऊदी मंत्री ने 4 सितंबर को इस्लामाबाद का दौरा किया था और प्रधानमंत्री खान व अन्य पाकिस्तानी नेताओं के साथ कश्मीर मुद्दे पर चर्चा की थी। प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान और यूएई के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन जायद को फोन करने और उनके साथ कश्मीर पर चर्चा करने के बाद दोनों मंत्रियों ने पाकिस्तान की यात्रा की थी। इस बीच, पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने गुरुवार को उन मीडिया रिपोर्टों को खारिज कर दिया, जिसमें दावा किया गया था कि संयुक्त अरब अमीरात और सऊदी अरब के विदेश मंत्रियों ने पाकिस्तान की अपनी हालिया यात्रा पर सरकार से कहा था कि कश्मीर मुस्लिम समुदाय से संबंधित मुद्दा नहीं था।