महाराष्ट्र की दस विधानसभा सीटों पर दांव पर लगी बड़े चेहरों की साख

Apna Lakhsya News


पुणे जिले की कोथरुड विधानसभा सीट खासी सुर्खियों में


महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे पूर्व सीएम पृथ्वीराज चव्हाण समेत पूर्व डिप्टी सीएम अजित पवार, छगन भुजबल जैसे कद्दावर नेताओं की किस्मत दांव पर लगी हुई है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस महाराष्ट्र के अगले सीएम के चेहरे के तौर पर दोबारा प्रोजेक्ट किए जा रहे हैंफडनवीस नागपुर की दक्षिण-पश्चिम सीट से चुनाव मैदान में हैं। पांच साल मुख्यमंत्री के रुप में सूबे की कमान संभाल चुके देवेंद्र फडनवीस एक बार फिर नागपुर दक्षिण पश्चिम विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में हैं। इस लोकप्रिय विधानसभा सीट पर वैसे तो 24 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं, लेकिन कांग्रेस प्रत्याशी आशीष देशमुख ही इस सीट पर फड़नवीस को चुनौती देते दिखाई दे रहे हैं। मुंबई की वी सीट भी इस बार चर्चा का केंद्र बन गई है। यहां से शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे चुनाव लडरहे हैं। आदित्य अपने परिवार से चुनाव लड़ने वाले पहले व्यक्ति हैं, उनसे पहले ठाकरे परिवार के किसी व्यक्ति ने चुनाव नहीं लड़ा है।दक्षिण मुंबई लोकसभा क्षेत्र में आने वाली वर्ली विधानसभा सीट शिवसेना का अभेद किला रहा है। इससीट पर ज्यादातर समय शिवसेना का ही कब्जा रहा है।  एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार के भतीजे प्रदेश के पूर्व डिप्टी सीएम अजित पवार पुणे जिले की बारामती विधानसभा सीट से 6 बार विधायक रह चुके हैं। अजित एक बार फिर इसी सीट से चुनाव मैदान में हैं। हालांकि, इस बार भाजपा प्रत्याशी गोपीचंद पडालकर उन्हें कड़ी टक्कर देते दिखाई दे रहे हैं। पडालकर मराठा नेता संभाजी भिड़े के शिष्य माने जाते हैं।



महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री और सूबे में भाजपा के मराठा चेहरा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल की पुणे जिले की कोथरुड विधानसभा सीट खासी सुर्खियों में है। चंद्रकांत पाटिल पहली बार विधानसभा का चुनाव लड़रहे हैं। पाटिल फिलहाल विधान परिषद के सदस्य हैं। चंद्रकांत पाटिल को एनसीपी के दुधाने लक्ष्मी देवराम से चुनौती मिल रही है। महाराष्ट के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण फिर एक बार सातारा जिले की कराड दक्षिण विधानसभा सीट से प्रत्याशी हैं। पृथ्वीराज चव्हाण को भाजपा के अतुधनंजय मुंडेसे इस बार चुनौती मिल रही है। धनंजय मुंडे एनसीपी के कद्दावर नेताओं में से एक हैं। धनंजय विधान परिषद में विपक्ष के नेता भी हैं। प्रदेश के पूर्व उप-मुख्यमंत्री छगन भुजबल की येवला विधानसभा सीट भी चर्चा में है। येवला सीट नासिक जिले में आती है। छगन भुजबल एनसीपी का ओबीसी चेहरा हैं। छगन भुजबल का मुकाबला शिवसेना के संभाजी साहेबराव पवार से है। इस सीट पर वंचित बहुजन आघाड़ी के अलगट सचिन वसंतराव के आने से मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है। अहमदनगर जिले की शिर्डी विधानसभा सीट से कांग्रेस से भाजपा में आए राधाकृष्ण विखे पाटिल चुनाव मैदान में हैं। कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश जगन्नाथ थोरात उनके खिलाफ चुनाव मैदान में हैं। इस सीट पर कुल 13 प्रत्याशी हैं, लेकिन राधाकृष्ण विखे पाटिल की स्थिति काफी मजबूत मानी जा रही है। प्रदेश के लोकनिर्माण मंत्री एकनाथ शिंदे मुंबई से सटे थाणे जिले की कोपरी पाचपखाड़ी विधानसभा सीट पर लगातार चौथी बार चुनाव लड़ रहे हैं। शिवसेना के एकनाथ शिंदे को कांग्रेस के संजय पांडुरंग घाडीगांवकर चुनौती दे रहे हैं। बहुजन वंचित आघाड़ी के उम्मीदवार उमेश बागवे की मौजूदगी से त्रिकोणीय मुकाबला है। मुंबई पुलिस के पूर्व अफसर एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा भाजपा के टिकट पर मुंबई से सटे नालासोपारा विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ रहे हैं। प्रदीप शर्मा का मुकाबला मौजूदा विधायक और बहुजन आघाड़ी के क्षितिज ठाकुर के बीच है। ल भोसले से कड़ी चुनौती मिल रही है। महाराष्ट्र की महिला एवं बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे फिर एक बार सूबे की बीड जिले की परली विधानसभा सीट पर भाजपा के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं। जीत की हैट्रिक के दमखम से चुनाव मैदान में उतरी पंकजा मुंडे को उन्हीं के चचेरे भाई एनसीपी नेता