मैं भाग्यशाली, गांधी का खुले में शौच मुक्त भारत का सपना हो रहा है पूरा : मोदी

अपना लक्ष्य 


अहमदाबाद। राष्ट्रपिता की 150वीं जयंती पर साबरमती आश्रम में श्रद्धांजलि देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को आगंतुक पुस्तिका में लिखा कि वह खुद को भाग्यशाली मानते हैं कि महात्मा गांधी का खुले में शौच मुक्त भारत का सपना पूरा हो रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने गुजराती भाषा में आगंतुक पुस्तिका में लिखा, 'साबरमती आश्रम अपने संकल्प को पूरा करने का तीर्थस्थल है। माननीय बापूने एक शपथ ली थी कि जब तक भारत आजाद नहीं हो जाता, वह साबरमती आश्रम नहीं लौटेंगे।'



उन्होंने लिखा, 'इस आश्रम ने वह शपथ भी पूरे होते हुए देखी।' मोदी ने लिखा, 'आज मैं संतुष्ट हूं कि महात्मा गांधी के स्वच्छ भारत का एक संकल्प आज सच हो रहा है। मैं ऐसे अवसर पर मौजूद होने के लिए खुद को भाग्यशाली मानता हूं जब भारत खुले में शौच मुक्त घोषित किया जा रहा है।' उन्होंने लिखा, 'हमें स्वतंत्रता आंदोलन में बापू के पीछे चलने का अवसर भले ही न मिल सका लेकिन उनके मार्ग पर चलना हमारा कर्तव्य है। हमें बापू द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलना चाहिए और देश के लिए बड़ी सफलता हासिल करने के लिए छोटी-छोटी शपथ लेनी चाहिए।'


 


Popular posts from this blog

आपदा प्रबन्धन समिति में गरीबों को भोजन देने का जिम्मेदारी साहब को दी गई है पर साहब अपने कुछ खास मित्रो का ज्यादा ख्याल करते दिखे ये वही है जिनके ऊपर घोटालों की लम्बी लिस्ट तैयार है,

शिवराज सरकार के लिए खुशखबरी, इंदौर, भोपाल में रिकवरी दर बढ़ी

पुलिस द्वारा करीब एक करोड़ रुपए कीमती अवैध सुपारी भरा ट्रक पकड़ा