पीएम का हमला, अपने राजनैतिक फायदे के लिए बंटा हुआ भारत देखना चाहता है विपक्ष

दैनिक अपना लक्ष्य


आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए पूरा देश जम्मू कश्मीर के नागरिकों के साथ हैं


मोदी की रैली में युवक ने किया सवाल-कहा कहां है बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक चुनावी रैली में एक व्यक्ति ने 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ पर सवाल उठाते हुए नारे लगाए और उनके मंच की तरफ कुछ कागज फेंके। हालांकि, प्रधानमंत्री ने अपना संबोधन जारी रखा। इस व्यक्ति ने चिल्लाते हुए कहा कहां है बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ? उसके बाद रैली में हो-हल्ला शुरु हो गया।



इसके बाद रैली में सादी वर्दी में मौजूद पुलिसकर्मियों ने युवक को मीडिया ब्लॉक के निकट रोक लिया और अपने साथ ले गए। रैली में मौजूद कई श्रोता अपने स्थान से खड़े होकर यह देखने लगे कि आखिर चल क्या रहा है? व्यक्ति की पहचान जगाधरी के रहनेवाले अशोक कुमार के रूप में की गई है। उसने मोदी के संबोधन स्थल की तरफ कागज भी फेंके थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संबोधित करके लिखे गए पत्र में व्यक्ति ने कहा है कि यमुनानगर में आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली एक छात्रा के साथ 26 अगस्त को उसके शिक्षक ने यौन उत्पीड़न किया। व्यक्ति ने पत्र में आरोप लगाया है कि जब इस मामले की शिकायत पुलिस से की गई तो उन्होंने कोई कार्रवाई करने के बजाय छात्रा के माता-पिता पर ही प्राथमिकी दर्ज कर दी। कुमार ने आरोप लगाया कि धरने के बाद भी पुलिस ने प्राथमिकी नहीं वापस ली। इस मामले पर पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी से जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मामले में जांच चल रही है। अकोला, एजेंसी महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 में प्रचार करने अकोला पहुंचे पीएम मोदी ने बुधवार को विपक्षी दलों पर जमकर वार किया। पीएम मोदी ने कहा, मैं हैरान हूं कि वीर छत्रपति शिवाजी की धरती पर राजनीतिक स्वार्थ के कारण आज कल ऐसी आवाजें उठाई जा रही हैं। जिसमें लोग खुले आम कह रहे हैं कि महाराष्ट के चुनाव में अनुच्छेद 370 का क्या लेना देना है। जम्मू कश्मीर का महाराष्ट से क्या लेना देना। ऐसी आवाज उठाने वालों को मैं कहना चाहता हूं कान खोलकर सुन लें। जम्मू कश्मीर के लोग मां भारती की संताने ही हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए पूरा देश जम्मू कश्मीर के नागरिकों के साथ हैं। कश्मीर के लिए भारत के कई राज्यों के वीरों बेटों ने जान दी है। पीएम मोदी ने कहा कि महाराष्ट का कोई जिला ऐसा नहीं होगा जहां के वीर सपूतों ने जम्मू कश्मीर में जाकर मां भारती की सेवा के लिए बलिदान ना दिया हो। एनसीपी नेता प्रफुल पटेल पर इशारो इशारों में वार करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मुंबई धमाकों के गुनहगारों के साथ एनसीपी नेताओं के संबंध हैं। पीएम ने कहा, आर्टिकल 370 का फैसले से आपखुशहैं, ये जरूरी कदम था, मोदी ने ठीक किया, आपकी इच्छा पूरी कर रहा हूं,आपाका आशीर्वाद बने रहेगा, आपका आशीर्वाद बना रहेगा तो मोदी नया-नया काम करता रहेगा। आप लोग इतने खुश हैं,लेकिन उनके चेहरे की रोशनी गायब हो गई है, उन्हें दर्द हो रहा है। उन्हें ये एक भारत श्रेष्ठ भारत मंजूर नहीं है। उन्हें को राजनीतिक फायदे के लिए बंटा हुआ भारत चाहिए। आज उनकी सारी चालें चौपट होती जा रही हैं। पीएम मोदी ने कहा कि महाराष्ट्र में महायुति (गठबंधन) से पहले इसतरह के लोगों की सरकार देखी है, उनका एक ही मकसद रहा है, अपना और अपने परिवार का कल्याण। इसके विपरीत फडणवीस सरकार में आपने देखा है, एक मात्र संकल्प,लक्ष्य महाराष्ट्र का विकास, महाराष्ट्र के लोगो का विकास और जन जन का कल्याण करना। ये छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रेरणा है, लोकमान्य तिलक की प्रेरणा है। ज्योतिबा फूले का दर्शन है जो सामाजिक न्याय बाबा अंबेडकर की आस्था है जो दिखाता है सबका साथ सबका विकास। उन्होंने कहा कि सावरकर पर राजनीतिक स्वार्थ के कारण ऐसी आवाजेंउठरही है। ये वीर सावरकार के संस्कार है जो राष्टवाद को राष्ट के निर्माण के मूल में रखा है। ये वहां लोग है जिन्होंने बाबा आंबेडकर को अपमानित किया।