सतना पुलिस अभिरक्षा में हुई मौत के बाद नागौद में जबरदस्त हंगामा

Apna Lakshya News


सतना - नागौद थाने में पुलिस अभिरक्षा के दौरान एक अधेड़ व्यक्ति की मौत के बाद नागौद कस्बे में जबरदस्त हंगामा हो गया। बौखलाई पब्लिक ने पहले थाना घेरा और फिर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से मृतक के शव को लेकर तहसीली में प्रदर्शन भी किया।



मुख्यालय से मौके पर पहुंचे वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने तनावपूर्ण माहौल को नियंत्रण पर लाने की कोशिश भी की। खबरों में बताया गया है कि आज मंगलवार की दोपहर नागौद थाना पुलिस पुरानी कोतवाली के समीप दुर्गा पंडाल में बैठे रामभजन उर्फ रामलला नामदेव, पूर्व पार्षद संतोष सोनी व नपा कर्मी मुबारक अली समेत अन्य कई लोगों को अपनी गाड़ी में अकारण मारते-पीटते व घसीटते हुए बैठा कर थाने ले गई। बताते हैं कि पुलिस की गाड़ी से थाने के सामने उतरते ही रामभजन उर्फ रामलला नामदेव की अचानक गिरने से मौके पर ही मौत हो गई।



उधर इस अप्रत्याशित घटना से भयभीत पुलिस ने रामभजन उर्फ रामलला के साथ उठा ले गए अन्य व्यक्तियों को थाने से ही छोड़ दिया। कहते हैं कि मौके की नजाकत को देखते हुए टीआई ने रामभजन उर्फ रामलला को हॉस्पिटल ले जाने के निर्देश पुलिस को दिए। पुलिस की टीम जैसे ही रामभजन को लेकर नागौद के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची तो चिकित्सकों ने देखते ही उसे मृत घोषित कर दिया। फिर क्या देखते ही देखते नागौद थाने में पुलिस अभिरक्षा के बीच हुई इस मौत को लेकर बखेड़ा खड़ा हो गया। जो भी हो, फिलहाल इस मामले में पुलिस का कहना था कि जिन्हें उठाकर वह थाने ले गई थी वेलोग सट्टा खेल रहे थे। जबकि आरोपियों का कहना यह रहा कि वे सभी दुर्गा पंडाल के समीप बैठ दुर्गा पूजन की तैयारी एवं दशहरे में झांकी निकालने की योजना बना रहे थे।



Popular posts from this blog

आपदा प्रबन्धन समिति में गरीबों को भोजन देने का जिम्मेदारी साहब को दी गई है पर साहब अपने कुछ खास मित्रो का ज्यादा ख्याल करते दिखे ये वही है जिनके ऊपर घोटालों की लम्बी लिस्ट तैयार है,

शिवराज सरकार के लिए खुशखबरी, इंदौर, भोपाल में रिकवरी दर बढ़ी

पुलिस द्वारा करीब एक करोड़ रुपए कीमती अवैध सुपारी भरा ट्रक पकड़ा