12  दिन में फिर उजड़ गई गुड़िया की मांग डाकू बबली कोल के मारे जाने के बाद रीवा में रचाई थी शादी

 


डाकू बबली कोल की पत्नी गुड़िया देवी पर शायद  भगवान भी रूष्ट है। 


शुरू से ही दर्द और यातना की जिंदगी जी रही गुड़िया देवी खुशियों की तलाश में न जाने कहां कहां भटकी लेकिन उसे ठिकाना नहीं मिला। 


डाकू गौरी यादव, हरिश्चंद्र पटेल के बाद डाकू बबली कोल के संपर्क में आई।


 डाकू बबली कोल भी मारा गया।उसके बाद गुडिया देवी पर पहाड़ टूट पड़ा और मजदूरी करने के लिए निकल पड़ी।


ऐसे में रीवा शहर के उपरहटी निवासी अनिल सिंह बरगाही ने गुडिया का हाथ थाम लिया और सेमरिया स्थित शिव मंदिर में गुडिया देवी संग 18 नवम्बर के दिन  शादी रचा ली। 


शादी हुये कुछ ही दिन गुजरे कि शुक्रवार को 12 वें दिन उसकी सजी मांग फिर उजड़ गयी।


बताया जाता है कि अनिल सिंह अपनी पत्नी गुडिया देवी और भांजा के साथ छग चिरमिरी वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होने गये थे।


आज दोपहर अटैक आने पर अनिल की मौत हो गई।मौत की खबर लगते ही उपरहटी मोहल्ले में मातम सा छा गया। 


उधर गुडिया देवी पर फिर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा। बताया जाता है कि अनिल सिंह का शव शनिवार की सुबह रीवा पहुचेगा.....