7 वर्ष में नही बन पाया शांतिधाम सरपंच सचिव ने मिलकर राशि डकारी ग्रामीणो की शिकायत के बाद विभागीय अधिकारियों ने नही लिया इस मामले में कोई एक्शन

{ग्राम पंचायतो के सरकारी योजनाओ में लगाया जा रहा पलीता इस कार्य मे जनपद के अधिकारियों की मौन स्वीकृति पंचायतो के विकास कार्य कागजो तक सीमित}
________________________

लवकुशनगर/ ग्राम पंचायतो मे सरपंच सचिव मिलकर सरकारी योजनाओ को पलीता लगा रहे है इन योजनाओ की विफलता में विभागीय अधिकारियों का भरपूर साथ मिल रहा है जानकारी के अनुसार लवकुशनगर जनपद क्षेत्र के ग्राम पंचायत बिलहरी मे सरकारी योजनाओ का ग्रामीणो को कोई लाभ नही मिल रहा जिससे ग्रामीणो में रोष व्याप्त है ग्राम पंचायत के अंतर्गत जिस शांतिधाम को 7 वर्ष पूर्व बनकर तैयार हो जाना चाहिए वह आज तक नही बन सका कारण बस एक ही है कि तत्कालीन सरपंच सचिव ने मिलकर शांतिधाम की राशि निकाल कर डकार गए यह राशि निकाले करीब 7 वर्ष पूरे होने को है लेकिन मजे की बात यह है कि विभागीय अधिकारियों ने ग्रामीणो की शिकायत के बाद भी कोई भी कार्रवाई प्रस्तावित नही की है 4 लाख 14 हजार की लागत से बिलहरी में शांतिधाम का निर्माण कार्य कराया जाना था सरपंच सचिव ने इस शांतिधाम निर्माण कार्य के एवज में करीब 1 लाख 54 हजार राशि निकाल ली जबकि मौके पर इतना काम नही हुआ सरपंच का कार्यकाल भी पूरा हो चुका है 



ग्रामीण बोले शिकायतो पर नही होती कोई सुनवाई
ग्रामीणो का आरोप है कि उनकी शिकायतो पर कोई कार्रवाई नही होती जनपद स्तर उनकी शिकायतो को जानबूझकर दबा दिया जाता है  जिससे वह निराश है ग्राम पंचायत हितग्राही मूलक योजनाओ का लाभ भी हितग्राहियो को नही मिल पा रहा है 7 वर्ष बाद भी शांतिधाम न बनने से ग्रामीणो में आक्रोश व्याप्त है
इनका कहना है
यह मामला मेरे सज्ञान में नही था यह जानकारी आपसे प्राप्त हो रही है मामले को दिखवाता हूँ


सिकंदर खान जनपद सीईओ लवकुशनगर



            


Popular posts from this blog

आपदा प्रबन्धन समिति में गरीबों को भोजन देने का जिम्मेदारी साहब को दी गई है पर साहब अपने कुछ खास मित्रो का ज्यादा ख्याल करते दिखे ये वही है जिनके ऊपर घोटालों की लम्बी लिस्ट तैयार है,

शिवराज सरकार के लिए खुशखबरी, इंदौर, भोपाल में रिकवरी दर बढ़ी

पुलिस द्वारा करीब एक करोड़ रुपए कीमती अवैध सुपारी भरा ट्रक पकड़ा