अब बसों के लिए भी होगा दिल्ली का नामः केजरीवाल

- दिल्ली में आने वाली 1000 स्टैंडर्ड फ्लोर बसों की खेप के तहत 100 नई बसों को राजघाट डिपो सेरवाना किया गया। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नई बसों को हरी झंडी दिखाते हुए कहा कि कुछ महीनों में 3 हजार नई बसें दिल्ली की सड़कों पर होंगी। जैसे दिल्ली को आज शिक्षा, स्वास्थ्य में हुए काम के लिए जाना जाता है, जल्द ही बसों सिस्टम के लिए भी जाना जाएगा। इन बसों में हाइड्रोलिक लिफ्ट, पैनिक बटन, सीसीटीवी, जीपीएस समेत सभी आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध हैं। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत भी मौजूद थे। इससे पहले 25 अक्टूबर को 104 और उससे पहले 25 नई बसों को पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम से जोड़ा गया था। परिवहन मंत्री ने कहा कि एक हजार नई बसें दिल्ली के ग्रामीण इलाकों में परिवहनमुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार अगले 6-7 ___ महीनों में सड़कों पर 3000 नई बसें उतारने वाली है। इनमें 1000 इलेक्ट्रिक बसें भी दिल्ली में आएंगी। यह भारत में किसी राज्य में अब तक का सबसे बड़ा इलेक्ट्रिक बसों का बेड़ा होगा। नई क्लस्टर बसों का अच्छी तरह से रखरखाव किया जाएगा। जैसे सरकार अस्पतालों का GP रखरखाव कर रही है, वैसे ही बसों का भी करेंगे। उन्होंने कहा कि स्कूलों और अस्पतालों को बनाए रखने के लिए पिछली सरकारों को भी बजट मंजूर किए थे, लेकिन केवल आम आदमी पार्टी सरकार ने स्कूलों और अस्पतालों को बेहतर बनाने पर काम किया है।