ऐसा कोई निर्माण कार्य नही जिसमे न बरती गई हो लापरवाही उपयंत्री ने गुणवत्ता पर नही दिया ध्यान


शौचालय के टैंक बने कूड़ेदान हिल रही दीवारे ग्राम पंचायत  प्रकाशबम्होरी में शौचालय निर्माण में जमकर बरती गई अनिमित्ताये आधा सैकड़ा शौचालय हुए जमीदोज ग्रामीणो की शिकायत पर अभी तक नही हुई कोई कार्रवाई
लवकुशनगर/बीमारियों से बचाव और समग्र स्वच्छता लाने के उद्देश्य से सरकार ने  खुले शौच से मुक्त कराने की मंशा को लेकर चिन्हित हितग्राहियो के घरों में  शौचालय निर्माण कराये लेकिन इन शौचालय निर्माण में  जमकर अनिमित्ताये बरती गई है सरपंच सचिव और उपयंत्री की मिलीभगत से पूर्व में निर्माण कराये गए इन शौचालयों में रत्ती भर भी क्वालटी नही दी गई जानकारी के अनुसार जनपद पंचायत गौरिहार के ग्राम पंचायत प्रकाशबम्होरी में शौचालय निर्माण ग्राम पंचायत के जिम्मेदारों द्वारा बरती गई अनियमिततायें सामने आई है इस मामले की ग्रामीणो द्वारा पूर्व में शिकायत की गई लेकिन  ग्रामीणो को इस मामले की जांच का अभी इंतजार है इस ग्राम पंचायत की कुल आबादी करीब तीन हजार से अधिक है यहां तीन सौ से अधिक शौचालय निर्माण कराये गए है लेकिन इनकी जमीनी कुछ अलग है शौचालय के लिए बनाए गए टैंक कूड़ेदान बन गए है हितग्राही घर का रोजाना निकलने वाला कचरा शौचालय के इस टैंक में डालते है जिससे यह अब पुरने की कगार पर है शौचालय की बनी दीवारे हिल रही है दीवारो के पास जाने में डर लगता है शौचालय में बनाया गया वाईवेशन आधा उखड़ गया और आधा अभी भी लगा है कुल मिलाकर समग्र स्वच्छयता के नाम पर यह योजना इस ग्राम पंचायत में मजाक बन गई है 



खुले में शौच जाने की मजबूर है हितग्राही


ग्राम पंचायत प्रकाशबम्होरी में सरकार की मंशा के अनुरूप शौचालय निर्माण नही कराये गए यही वजह है कि हितग्राहियो के नाम से शौचालय निर्माण की राशि आहरित कर ली गई लेकिन वास्तविक स्थिति में कुछ अलग है शौचालय कम्प्लीट न होने से यह हितग्राही आज भी अपने पूरे परिवार के साथ खुले में शौच जाने को मजबूर है हितग्राहियो की इस पीड़ा को सुनने को कोई तैयार नही है 


सीसी रोड निर्माण में हुई धांधली
ग्राम पंचायत प्रकाशबम्होरी में हरेक सरकारी योजनाओं में पलीता लगाया गया है अभी हाल ही में ग्राम पंचायत द्वारा करीब 5 लाख 70 हजार की लागत से 170 मीटर सीसी रोड डाला गया सीसी रोड की सड़क डलते ही एक ही दिन उखड़ने लगी है जिससे ग्रामीणो में रोष व्याप्त है हालांकि इस मामले में जिला सीईओ ने आरईएस के कार्यपालनयंत्री को जांच सौंपी है लेकिन वह भी इस मामले की जांच करने नही पहुचे जांच अधिकारी के आने का ग्रामीण बेशब्री से इंतजार कर रहे है 


इनका कहना है 
शौचालय निर्माण में यदि जिम्मेदारों द्वारा लापरवाही बरती गई है तो एक टीम गठित कर बारीकी से जांच की जाएगी और दोषियो पर कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी
अविनाश रावत एसडीएम लवकुशनगर