बदेरा में बिना सुरक्षा इंतजाम से संचालित हो रही दिलीप जैन की छुई खदान


मैहर के बदेरा थाने से महज 200मीटर की दूरी पर दिलीप जैन छुई खदान का संचालन कर रहा है मौके में जाकर अगर जिले का खनिज अधिकारी निरीक्षण करें तो खनन अधिनियम के तहत खदान की सुरक्षा व्यवस्था की पोल खुल जाएगी भले जिले में सबसे ज्यादा हादसे छुई खदानों में होते है लेकिन बदेरा में खदान संचालित कर रहे दिलीप जैन खदान संचालन में सुरक्षा नियमो को भूल गए है वही खदान दशकों से संचालित हो रही है मैहर में कितने प्रशासनिक अधिकारी आये और चले गए लेकिन किसी ने बदेरा में छुई खदान संचालित कर रहे दिलीप जैन को सुरक्षा नियमो का पाठ नही पढ़ाया वही जिले में प्रशासन कमान कलेक्टर सतेंद्र सिंह जी के हाथों है जो हर शिकायत के निराकरण के लिए प्रयासरत रहते है जिले भर के लोगो की हर समस्या का निदान करने में जुटे रहते है अब देखना होगा क्या सतना कलेक्टर संतेन्द्र सिंह जी बदेरा में सुरक्षा नियमो को ठेंगा दिखाते संचालित कर रहे  छुई खदान के संचालक को शासन के नियमो का पाठ पढ़ाएंगे|