बेटियों के सशक्तिकरण के लिए शासन पूरी तत्परता से कर रही कार्य - श्री पटवारी


शासकीय कन्या महाविद्यालय में छात्राओं की समस्याओं को सुन उच्च शिक्षा मंत्री ने किया निदान वह दिन अब दूर नही जब युवतियाँ अपने लिए योग्य युवकों का करेंगी चयन
शहडोल- अब तक प्रदेश में बालिकाओं एवं युवतियों को भविष्य निर्माण के लिए बालकों की अपेक्षा अधिक चुनौतियों का सामना करना पड़ता था। राज्य शासन महिलाओं के सशक्तिकरण एवं ऐसे सामाजिक वातावरण के निर्माण का कार्य कर रही है ताकि अधिक सहजता से महिलाएँ कुशल हो सकें योग्य हो सकें एवं सभी का अच्छा भविष्य सुनिश्चित हो। कैबिनेट मंत्री उच्च शिक्षा तथा खेल एवं युवा कल्याण विभाग श्री जीतू पटवारी शासकीय इंदिरा गांधी कन्या महाविद्यालय शहडोल में आयोजित युवा छात्र संवाद कार्यक्रम में छात्राओं को सम्बोधित कर रहे थे।



           आपने कहा वह दिन अब दूर नही जब आर्थिक एवं सामाजिक रूप से सशक्त महिलाएँ अपने लिए योग्य वरों का चयन खुद करेंगी। बेटियों की शासन के विभिन्न अंगो में सहभागिता बढ़ाने हेतु राज्य शासन द्वारा चयन में प्राथमिकता दी जाएगी। आपने कहा शासन द्वारा युवाओं के कौशल में वर्तमान आवश्यकताओं के अनुसार वृद्धि कर रोजगार उपयोगी बनाए जाने हेतु सतत रूप से प्रयास किए जा रहे हैं। शासन द्वारा समाज के हर वर्ग के उत्थान हेतु प्रयास किया जा रहा है। आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को शासकीय सेवाओं में प्राथमिकता दी जाएगी इस हेतु शासन द्वारा योजनाएँ बनायी जा रही हैं।


इस दौरान श्री जीतू पटवारी ने छात्राओं से उनकी अपेक्षाओं एवं समस्याओं पर संवाद किया। छात्रा अंजलि द्विवेदी द्वारा रोजगार हेतु विशेष प्रयास करने, प्रिया पटेल द्वारा मध्यम प्रतिभा वाले छात्रों हेतु रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने, रिशू द्वारा कक्षाओं के नियमित संचालन समेत छात्राओं ने शिक्षकों की कमी, बैडमिंटन कोर्ट को शीघ्र पूरा करवाने के सम्बंध में उच्च शिक्षा मंत्री को अवगत कराया। श्री पटवारी ने कहा युवाओं की योग्यता उन्नयन एवं रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण हेतु राज्य शासन द्वारा सतत रूप से प्रयास किए जा रहे हैं। शासकीय क्षेत्रों के साथ निजी क्षेत्रों में भी रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। अधूरे बैड्मिंटन कोर्ट की पूर्ति की माँग पर श्री पटवारी ने बजट उपलब्ध करा शीघ्र बैडमिंटन कोर्ट पूर्ण कराने के निर्देश दिए।
       शिक्षकों की कमी की समस्या पर श्री जीतू पटवारी ने कहा इस माह के अंत तक महाविद्यालयों में शिक्षकों की 50 प्रतिशत की कुल कमी में से 30 प्रतिशत कमी को पूर्ण कर दिया जाएगा। इसके साथ ही आपने कहा शहडोल जिले के महाविद्यालयों में शिक्षकों की कमी की प्राथमिकता से पूर्ति की जाएगी।



जन सेवा में शत प्रतिशत देना ही सच्चा पुरुष्कार - श्री पटवारी
छात्रा विद्या शुक्ला द्वारा फेम ऑफ इंडिया पुरुष्कार पर बधाई दिए जाने पर श्री पटवारी ने कहा महत्वपूर्ण ये है जन सेवा में शत प्रतिशत दिया जाय। यह अवॉर्ड मध्यप्रदेश की जनता के विश्वास को है उनके चयन को है। उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा सर्वांगीण विकास के लिए खेल अहम है।आपने हर छात्रा से आह्वान किया कि हर छात्रा कम से कम एक खेल का चयन कर नियमित रूप से अभ्यास करे। श्री पटवारी ने सभी छात्राओं को उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएँ दी ।
          उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा महाविद्यालय प्राचार्यों से प्रशासनिक समस्याओं पर चर्चा की गयी। इस दौरान प्राचार्य कन्या महाविद्यालय द्वारा वाणिज्य संकाय, होम साइंस संकाय हेतु पीजी कोर्स एवं एमए अंग्रेजी संकाय को नियमित किए जाने की माँग की गयी। जिस पर श्री पटवारी ने शीघ्र कार्यवाही का आश्वासन दिया। श्री पटवारी ने कहा शिक्षण संस्थान एक पवित्र मंदिर है यहाँ नकारात्मकता की कोई जगह नहीं है। आपने आह्वान किया कि सभी शिक्षक अपने कर्तव्यों का पूरे मनोयोग से निर्वहन करें एवं युवाओं के भविष्य निर्माण के पुनीत कार्य में सहभागी बने। शिक्षकों के हित सम्बंधी समस्त विषयों में शीघ्र ही राज्य शासन द्वारा सकारात्मक निर्णय लिया जाएगा।



जनजातीय कल्याण मंत्री एवं शहडोल जिले के प्रभारी मंत्री ओमकार सिंह मरकाम ने कहा राज्य शासन द्वारा गरीबों को आगे बढ़ाने आदिवासियों के हितों के संरक्षण एवं विकास हेतु सतत रूप से प्रयास किए जा रहे हैं यह प्रयास जारी रहेंगे।
       इससे पहले कार्यक्रम स्थल में छात्राओं द्वारा उच्च शिक्षा मंत्री का पूरे उत्साह से स्वागत किया गया। कार्यक्रम के दौरान कलेक्टर श्री ललित दाहिमा, क्षेत्रीय अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा डॉ पंकज कुमार श्रीवास्तव, स्थानीय जन प्रतिनिधियों समेत शहडोल संभाग के महाविद्यालयों के संस्था प्रमुख एवं बड़ी संख्या में छात्राएँ उपस्थित रहीं।