बिजरी अस्पताल को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को कब मिलेगा दर्जा: मनोज द्विवेदी

अनूपपुर। जिला अन्तर्गत बिजुरी मे संचालित वर्षो पुराने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को अब तक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का दर्जा नहीं मिल सका है। भाजपा नेता मनोज द्विवेदी ने प्रशासन से मुख्यमंत्री की घोषणा पर शीघ्र अमल कर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का दर्जा दिये जाने की मांग की है


ज्ञातव्य है कि विगत कयी वर्षों से क्षेत्रीय नागरिको द्वारा बिजुरी मे संचालित प्राथमिक


स्वास्थ्य केंद्र को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का दर्जा दिये जाने की मांग शासन प्रशासन से लगातार की जा रही है। मगर आज तक नागरिको की यह उपयोगी और बहुप्रतीक्षित मांग पूरी नहीं हो सकी है। जाहिर है बिजुरी नगर सहित केनापारा, कुर्जा, डोंगरिया, भाठाडाड़, थानगांव, बेलगांव, बहेराबांध, नगारा बांध, बेलिया, मौहरी, समेत दर्जनो गांव के मरीज इस स्वास्थ्य केन्द्र मे अपना इलाज कराने आते है। मगर डाक्टरों की कमी और सुविधाओं का टोटा होने के चलते बिना इलाज के ही वापस लौट जाते हैं या झोलाछाप डाक्टरों की शरण मे जाने को मजबूर होते हैं। जानकारों का कहना है कि जब तक इस स्वास्थ्य केन्द्र का दर्जा पी, यस, सी से बढ़ाकर सी यस सी नहीं किया जाता तब तक इसमे सुविधाए नही बढ़ाई जा सकती ऐसे में बिजुरी को पी यस सी से सी यस सी का दर्जा दिऐ जाने की मांग उचित है गौरतलब है कि बिजुरी नगर मे स्वास्थ्य सुविधाओं की भारी कमी है। विदित है कि बिजुरी नगर मे स्वास्थ्य सुविधा के नाम पर बिजुरी के समीपी ग्राम लोहसरा मे एक अस्पताल संचालित है। इस इकलौते स्वास्थ्य केन्द्र में मरीजों को मिलने वाली सुविधाएं नही के बराबर है। चूँकि यह स्वास्थ्य केन्द्र बिजुरी नगर का इकलौता सासकीय स्वास्थ्य केन्द्र है ऐसे मे इस स्वस्थ केन्द्र में सुबह से ही बिजुरी नगर सहित ग्रामीण अंचलो के मरीजो की भीड़ लगी रहती है। मगर स्वास्थ्य केन्द्र मे सुविधा न होने के चलते मरीजो का समुचित इलाज नही हो पाता इतनी बड़ी आबादी वाले इस क्षेत्र मे लोगो द्वारा बिगत् कयी वर्षों से इकलौते स्वस्थ केन्द्र मे सुविधाएं बढ़ाए जाने की मांग की जारही है लेकिन शासन प्रसाशन द्वारा आज तक इस ओर ध्यान नहीं दिया गया जिसके चलते इस क्षेत्र के गरीब लोग स्वास्थ्य सुविधाओं के आभाव का दंश झेल रहे हैं।