चौकस कानून व्यवस्था से बनी रही शान्ति-सोशल मीडिया पर कड़ी नजर

अनूपपुर। देश के इतिहास में हिन्दू - मुसलमानों के बीच विवादित अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सख्त, चौकस सुरक्षा व्यवस्था के बीच तुम्हारी भी जय - जय, हमारी भी जय - जय .....ना तुम हारे, ना हम हारे के भाव से जब शनिवार, 9 नवम्बर को अपना सुप्रीम निर्णय सुनाया तो उस पर दुनिया भर की नजरें टिकी हुई थी। देश के सबसे चर्चित केस राम जन्मभूमि मंदिर-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद पर सुप्रीम कोर्ट की 5 सदस्यीय संविधान पीठ ने शनिवार सुबह साढ़े 10.30 बजे से अपना फैसला पढ़ना शुरू किया। देश के सबसे विवादित एवं संवेदनशील मामले में लगाकर 40 दिन सुनवाई कर सुप्रीम कोर्ट को मुख्य न्यायाधीश माननीय श्री रंजन गोगोई की पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने इतिहास रचा। नवम्बर में श्री गोगोई के सेवानिवृत्त होने के कारण 15 नवम्बर के पूर्व निर्णय आने की तैयारियों के बीच शुक्रवार की शाम जैसे ही शनिवार को फैसला आने की घोषणा हुई अनूपपुर जिला निवार को फैसला आने की घोषणा हुई अनूपपुर जिला प्रशासन ने जिले में सुरक्षा व्यवस्था तगडी करते हुए एक के बाद एक आदेश देर रात तक जारी करते हुए पूरी रात रतजगा कर कानून व्यवस्था की निगरानी की। कलेक्टर चन्द्रमोहन ठाकुर एवं पुलिस अधीक्षक किरणलता केरकेट्टा के साथ अधिकारियों की टीम परी रात जागती रही। अनूपपुर, कोतमा, बिजुरी, जैतहरी, राजनगर, पसान, राजेन्द्रग्राम, अमरकंटक, चचाई सहित सभी नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबन्द करते हुए सोशल मीडिया पर सख्त नजर रखी जा रही है। अयोध्या मामले पर आने वाले सुप्रीम P कोर्ट के फैसले के मद्देनजर कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री ठाकुर ने अनूपपुर के निवासियों से अमन-चैन, शांति व सद्भावना की अपील करते हुए कहा कि जो भी फैसला आये, सभी मिलजुलकर उसका सम्मान व आदर करें।


Popular posts from this blog

आज से खुलेंगी किराना दुकानें, खरीद सकेंगे राशन, प्रशासन ने तय किए सब्जी के रेट, देखें लिस्ट

आंगनबाड़ी केंद्र वार्ड नं 13 में किया गया टीकाकरण कार्यक्रम

कोतमा में राजश्री सहित कई  उत्पादों की कालाबाज़ारी जोरों पर