चोलना घाट के सोन नदी में रेत की मची लूट

ब्यूरो चंदन केवट जैतहरी। जिले के खनिज विभाग कार्यालय में जंगलराज प्रारंभ हो गया है कारण कि इस जिले में छने-फूके अधिकारी/कर्मचारी पुनः वापस आकर व्यवस्था से बनी रही राजेंदग्राम कुर्सी तोड़ रहे हैं। इनके इशारे पर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र चोलना घाट के सोन नदी पर रेत का अवैध उत्खनन हो रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि सोन नदी पुल के दोनों तरफ भारी भरकम मशीनों के बलबूते रात-दिन रेत निकाला जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में हो रहे विकास के नाम पर रेत का अवैध उत्खनन चल रहा है। जिसे लेकर आमजन में भारी आक्रोश व्याप्त है। जानकारी मिली है कि चोलना घाट सोन नदी में सैकड़ों ट्राली अवैध रेत का भण्डारण किया गया है, जिसकी जांच आवश्यक मानी जा रही है। ग्राम चोलना के प्रबुद्धजन, समाजसेवियों ने बताया है कि खनिज विभाग, स्थानीय राजस्व विभाग व ठेकेदारों के मिलीभगत से रात-दिन रेत की चोरी की जा रही है। जबकि शासन द्वारा निर्देश जारी किए गए हैं कि नदियों से मशीनों के माध्यम से रेत नहीं निकाले जायेंगे फिर भी पोकलैण्ड एवं जेसीबी से रेत निकाला जा रहा है। क्षेत्र के लोगों ने संभागायुक्त एवं कलेक्टर से मांग किए हैं कि चोलना घाट के अवैध उत्खनन पर रोक लगाई जाये, जिससे सोन नदी का सीना बचा रहे।