चोटीवाला को लूट लिया रेल्वे ने नियम कानून चला गया चूल्हे में


👁‍🗨 रेल्वे स्टेशन का CCTV कैमरा बंद कर यात्रीगणों को लूटने हो रही है कोशिश-चोटीवाल। 
👁‍🗨 नौरोजाबाद से रीवा का  जनरल का किराया है 50 रुपया। 
👁‍🗨  50 रुपये की जगह  500रु लिया गया किराया।
👁‍🗨 एक सामाजिक कार्यकर्ता के साथ रेल्वे कर्मचारियों ने की लूट।
👁‍🗨 इस संबध मे मंडल रेल्व प्रबंधन बिलासपुर को लिखेंगें पत्र। 
👁‍🗨 मामला नौरोजाबाद रेल्वे स्टेशन का है जहां आज शाम 8 बजे के लगभग सामाजिक कार्यकर्ता विश्वनाथ पटेल चोटीवाला ने नौरोजाबाद रेल्वे स्टेशन मे नौरोजाबाद से रीवा के लिए दो जनरल टिकट के लिए 500 रु का नोट दिये जिसमे टिकट काट रहे कर्मचारी द्वारा 500 रु. का नोट रख लिया और दो टिकट गया है जब  श्री चोटीवाला ने टिकट अलावा और पैसा वापस मांगा तो टिकट कर्मचारी ने कहा कि आप सौ रुपये ही दिये हैं इसमे टिकट कर्मचारी और श्री चोटीवाला की पैसे वापसी को लेकर बहस होने लगी, बहस के दौरान श्री चोटीवाला की नजर अचानक स्टेशन के टिकट कांउटर मे लगे कैमरे पर पड़ी तो श्री चोटीवाला ने टिकट कर्मचारी से जब बोले कि आप CCTV कैमरे मे देख ले कि मै कितने कि नोट दिया हूँ, तो मामला साफ हो जायेगा कि पांच सौ की नोट दी गयी है या सौ कि तो कर्मचारी ने बोला कि हमारे स्टेशन का कैमरा कई महीनो से खराब है इससे रेल्वे विभाग बड़ी लापरवाही सामने आई है,जहां सरकार ने हर रेल्वे स्टेशन को हाईटेक बनाने के लिए नये संसाधनों से स्टेशनों को सजा रही हैं,वहीं नौरोजाबाद जैसे रेल्वे स्टेशन मे CCTV कैमरा महीनो से बंद होना टिकट कर्मचारी को संदेह के घेरे मे खड़ा कर दिया हैं कि आखिर रेल्वे स्टेशन का CCTV कैमरा महीनों क्यों बंद पड़ा है कहीं ऐसा तो नही है कि नौरोजाबाद स्टेशन मे पदस्थ अधिकारी एवं कर्मचारी टिकट काउंटर का कैमरा जानबूझ कर बंद कर रखें हो जिससे ऐसे न जाने कितने यात्रा करने वाले यात्रियों लूटने मे सहूलियत हो सके,खैर यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा कि आखिर रेल्वे स्टेशन नौरोजाबाद का कैमरा बंद करने मकसद क्या है।