देश-विदेश के प्रतिष्ठित संस्‍थानों से प्रशिक्षण लेकर आए पुलिस अधिकारियों ने अनुभव साझा किए

 


स्‍पेशल डीजी श्री राणा के मुख्‍य आतिथ्‍य में मिड-कैरियर ट्रेनिंग प्रोग्राम का समापन


 


भोपाल,18 नवम्‍बर 2019/ मिड-कैरियर ट्रेनिंग प्रोग्राम के तहत ब्रिटेन की शेफील्‍ड हेलम यूनीवर्सिटी एवं देश के प्रतिष्ठित संस्‍थानों से आधुनिक पुलिसिंग की बारीकियाँ सीखकर आए राज्‍य पुलिस सेवा के अधिकारियों ने विशेष पुलिस महानिदेशक श्री संजय राणा की मौजूदगी में अपने अनुभव साझा किए। प्रशिक्षण का समापन सत्र सोमवार को यहाँ आरसीव्‍हीपी नरोन्‍हा प्रशासन अकादमी में आयोजित हुआ। आधुनिक पुलिसिंग के गुर सीखकर आए पु‍लिस अधिकारियों का कहना था कि इस प्रशिक्षण से उनकी दक्षता बढ़ी है। साथ ही यह भी सीखा है कि व्‍यवसायिक दृष्टिकोण के साथ कैसे बेहतर ढ़ंग से पुलिसिंग की जा सकती है। उनका कहना था एक माह तक चले इस प्रशिक्षण से व्‍यक्तित्‍व में सकारात्‍मक निखार भी आया है।



पुलिस मुख्‍यालय की प्रशिक्षण शाखा की पहल पर राज्‍य पुलिस सेवा के अधिकारियों के लिए ऐसा पहला मिड-कैरियर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें विदेश में भी प्रशिक्षण दिलाया गया है। एक माह तक चले इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में वर्ष 1996, 97 व 98 बैच के तीस पुलिस अधिकारी शामिल हुए। मिड-कैरियर ट्रेनिंग प्रोग्राम के तहत ब्रिटेन की हेलम यूनीवर्सिटी तथा देश के सुप्रतिष्ठित संस्‍थानों मसलन नॉर्थ-ईस्टर्न पुलिस अकादमी उमसाव (मेघालय), टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस  मुंबई एवं आरसीव्‍हीपी नरोन्हा प्रशासन व प्रबंधकीय अकादमी में आयोजित हुए प्रशिक्षण सत्र में इन अधिकारियों ने आधुनिक पुलिसिंग की बारीकियाँ सीखीं।



प्रशिक्षण के समापन सत्र को संबोधित करते हुए विशेष पुलिस महानिदेशक श्री संजय राणा ने कहा कि आप सबने प्रशिक्षण के दौरान जो सीखा है, वह आपके कार्य-व्‍यवहार में दिखाई देना चाहिए। उन्‍होंने कहा मध्‍यप्रदेश पुलिस की दक्षता बढ़ाने के लिए अल्‍प अवधि के और भी प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाएँगे।


अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण श्रीमती अनुराधा शंकर ने कहा कि आप सब अपने अनुभव अन्‍य पुलिस अधिकारियों के साथ भी साझा करें। साथ ही आधुनिक पुलिसिंग की बारीकियों का उपयोग कर बेहतर ढंग से अपने काम को अंजाम दें।



अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक आर्थिक अपराध अनुसंधान श्री एस.एम.अफजल ने प्रशिक्षु अधिकारियों से कहा कि अपने साथियों की अच्‍छाईयों व काबीलियत की तारीफ करें, जिससे उन्‍हें प्रोत्‍साहन मिलता है। सा‍थ ही अन्‍य लोगों को प्रेरणा मिलती है। उन्‍होंने सकारात्‍मक सोच के साथ पुलिसिंग करने पर बल दिया।


मध्‍यप्रदेश पुलिस अकादमी भौंरी के निदेशक श्री के.टी.वाईफे ने भी विचार व्‍यक्‍त किए। इस अवसर पर अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक नक्‍सल विरोधी अभियान श्री संजीव शमी एवं अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक एसटीएफ श्री अशोक अवस्‍थी भी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन पुलिस अकादमी भौंरी के अतिरिक्‍त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज पांडेय ने किया