ग्रामीण अंचल में मौसमी बीमारी का कहर

___ ब्यूरो चंदन केवट चचाई। जिले के ग्रामीण अंचल में इन दिनों मौसमी बीमारी का कहर टूट पड़ा है और शासकीय व्यवस्था अव्यवस्था में तब्दील हो चुकी है। ग्रामीण अंचल के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बीमार हो चुके हैं जिसके चलते मरीजों को झोलाछाप डॉक्टरों के शरण में जाना पड़ रहा है। जिले के ग्रामीण अंचल चचाई, बरगवां, केल्हौरी, संजयनगर, देवहरा, पटना, अमलई के साथ-साथ फुनगा, बदरा, रक्सा, कोलमी, धनगवां पश्चिम, मझगवां, छिल्पा, बम्हनी, देवरी, छुलकारी क्षेत्र में बुखार, पेटदर्द जैसी समस्याएं बनी हुई है। क्षेत्र के जिम्मेदार कर्मचारी ध्यान नहीं दे रहे। उल्लेखनीय है कि एक ओर मरीज अपनी बीमारी की चपेट में जूझ रहा है, वहीं दूसरी ओर झोलाछॉप डॉक्टर गरीब मरीजों का शोषण कर रहे हैं। क्षेत्रीयजनों ने कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर, सीएमएचओ श्री सोनवानी से मांग किए हैं कि क्षेत्रीय कर्मचारियों को कड़े निर्देश जारी किये जायें जिससे मरीजों को अनूपपुर, शहडोल जाकर उपचार न कराना पड़े, स्थानीय स्तर में स्वास्थ्य सुविधा मिल सके


Popular posts from this blog

आज से खुलेंगी किराना दुकानें, खरीद सकेंगे राशन, प्रशासन ने तय किए सब्जी के रेट, देखें लिस्ट

3 जिले पूरी तरह सील, 11 जिलों में टोटल लॉकडाउन, बाहर निकले तो होगी FIR

आपदा प्रबन्धन समिति में गरीबों को भोजन देने का जिम्मेदारी साहब को दी गई है पर साहब अपने कुछ खास मित्रो का ज्यादा ख्याल करते दिखे ये वही है जिनके ऊपर घोटालों की लम्बी लिस्ट तैयार है,