हर संभव परिस्थितियों में बनाए रखें शांति एवं कानून व्यवस्था – कमिश्नर डॉ. भार्गव

कमिश्नर ने संभाग के सभी कलेक्टरों को अयोध्या प्रकरण के संबंध में दिये निर्देश


 रीवा : कमिश्नर रीवा संभाग डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने अयोध्या प्रकरण के संबंध में संभाग के सभी जिला कलेक्टरों को निर्देश दिए हैं कि वे हर संभव परिस्थितियों में आपसी सद्भाव, शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा है कि अपने-अपने जिले में शांति बनाए रखने के लिए आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करें। आवश्यकतानुसार तत्काल सर्वधर्म सद्भाव सम्मेलन एवं कार्यशालाओं का आयोजन करें। सभी धर्मों के प्रमुख व्यक्तियों से समन्वय कर आपसी सद्भाव बनाए रखने के उद्देश्य से प्रभावी कदम उठाएं। असामाजिक तत्वों के खिलाफ जिला दंडाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक संयुक्त रूप से प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित करें। 
 कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा कि अयोध्या प्रकरण के संबंध में उच्चतम न्यायालय में सुनवाई पूरी हो चुकी है। इस मामले में निर्णय शीघ्र लिया जाने वाला है। इस संवदेनशील मुद्दे पर निर्णय उपरान्त कानून व्यवस्था बनाए रखना चुनौती हो सकती है। इस संबंध में सभी स्थितियों पर पूर्व से आंकलन कर आवश्यक कार्यवाही करना नितान्त आवश्यक है। संभाग के सभी जिलों में कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक लगातार स्थिति पर नजर रखें। इस संबंध में प्राप्त वरिष्ठ कार्यालयों से दिशा-निर्देशों का अक्षरश: पालन सुनिश्चित करें। 
कमिश्नर डॉ. भार्गव ने निर्देश दिये हैं कि जिले में जो असामाजिक तत्व हैं उन पर विशेष निगाह रखें और उनके विरूद्ध आवश्यकतानुसार प्रतिबंधात्मक कार्यवाही आदि सुनिश्चित करें। कोई ऐसा समूह जो इस निर्णय से उत्साहित होकर बाइक रैली, विजय जुलूस, नुक्कड़ सभा, सोशल मीडिया पर दुष्प्रचार आदि कर सकते हैं तो इन पर पूर्णत: प्रतिबंध लगाने के लिए दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगाए जाने के संबंध में आवश्यक कार्यवाही करें। 
कमिश्नर डॉ. भार्गव ने सभी जिला कलेक्टरों को निर्देशित किया है कि जिले में शांति समिति की बैठक आयोजित किये जाने, समस्त थाना स्तर एवं संबंधित कार्यपालिक दण्डाधिकारियों के साथ बैठक कर उन्हें सतर्क किए जाने, संवेदनशील इलाकों एवं व्यक्तियों की निगरानी किए जाने, सोशल मीडिया पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाले संदेश अथवा पोस्ट आदि पर सूक्ष्म निगाह रखे जाने तथा सूचना तंत्र मजबूत किये जाने के संबंध में आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करें। कमिश्नर डॉ. भार्गव ने इसके साथ ही निर्देश दिये हैं कि कोई भी पूर्व से विद्यमान विवादित स्थानीय मुद्दों पर नजर रखें। किसी भी प्रकार के संदेश, पोस्टर जो उभय संप्रदाय की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाले हों उन पर पूर्णत: प्रतिबंध लगायें। उभय संप्रदाय के नेताओं अथवा कार्यकर्ताओं को विश्वास में लें। जिले में आपात सेवाओं तथा अत्यावश्यक सेवाओं से संबंधित सभी विभागों के अधिकारियों की पूर्णकालिक उपस्थिति सुनिश्चित करें तथा सतर्कता बरतें।