इज्तिमा में जायरीनों को मिलेगा सिर्फ शाकाहारी खाना

नहीं बंटेगा नानवेज खाना, ग्रीन-क्लीन की थीम पर आयोजित होगा इज्तिमा


अपना लक्ष्य


भोपाल राजधानी में आयोजित होने वाले आलमी तब्लीगी इज्तिमा में इस बार जायरीनों को सिर्फ शाकाहारी खाना ही मिलेगा। इसके लिए 15 एकड़ जमीन पर खाने के लिए 50 फूड जोन बनाए जा रहे हैं। वहीं नीचे बैठ कर खाना खाने की भी व्यवस्था की जा रही है। खास बात तो यह है कि खाना गैस चुल्हे पर पका हुआ नहीं होगा, बल्कि भट्टी में लकड़ी से पकाया जाएगा। खाने के फूड जोन में रहने वाले हर कर्मचारी का पुलिस वैरिफिकेशन पहले कराना होगा। इज्तिमा कमेटी ने यह भी निर्णय लिया है कि इज्तिमा ग्रीन-क्लीन की थीम पर आयोजित होगा। यहां पर पॉलिथीन का उपयोग पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। इज्तिमा के प्रशासनिक कर्ता-धर्ता अतीक उर रहमान इस्लाम ने बताया कि इस बार 40 रुपए में खाने की थाली उपलब्ध कराई जाएगी। 50 से अधिक फूड जोन बनाए जाएंगे। वहीं इस बार आयुर्वेद और यूनानी दवाखानों की व्यवस्था भी शासन द्वारा की जा रही है। इनके लिए अलग से स्टॉल लगाए जाएंगे। मेले में तीन दिन तक जो रुकेगा उनके के लिए टेंट और बिछात की व्यवस्था कमेटी द्वारा की जाएगी। सोने और ओढ़ने का सामान जमाती खुद लेकर चलते हैं। खाना बनाने के लिए लकड़ी की व्यवस्था कमेटी कर रही है। कहीं भी गैस का उपयोग नहीं किया जाएगा, हालांकि यह निर्णय सुरक्षा की दृष्टि से लिया गया है। अतीक उर रहमान इस्लाम ने बताया कि नहाने के लिए गर्म पानी उपलब्ध रहेगा। बुजू के लिए भी विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं। कलेक्टर ने कहा कि इज्तिमा के सभी इंतजाम तीन दिन पूर्व पूरे कर लिए जाएं। सड़क, पीने के पानी की व्यवस्था, लाइट और आपातकालीन स्थितियों में फायर ब्रिगेड के आने जाने के लिए विशेष इंतजाम किए जाएंगे। डीआईजी इरशाद वली ने कहा कि नमाजियों के लिए किसी प्रकार की समस्या न हो इसके लिए विशेष रूप से वालेंटियर्स भी रखे जा रहे हैं। उनको इज्तमा कमेटी द्वारा कार्ड उपलब्ध कराए जाएंगे।