कलेक्टर ने कई कार्यालयों का किया आकस्मिक निरीक्षण सभी कार्यालय में साफ सफाई रखने के दिए निर्देश


पानी की एक-एक बूंद बचाने की दी सीख
पानी का दुरुपयोग रोकने के लिए आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश
समय पर कार्यालय नही आने वाले अधिकारियांे के विरूद्ध होगी कार्यवाही
शहडोल - कलेक्टर  श्री ललित  दाहिमा ने आज कलेक्टर कार्यालय भवन में संचालित, आदिम जाति कल्याण विभाग, अपर कलेक्टर न्यायालय, नजारत एवं आवक जावक कक्ष, जिला कोषालय, जिला निर्वाचन अधिकारी, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक की शाखा एवं अन्य कार्यालय का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने सभी कार्यालयों में समुचित साफ-सफाई  रखने के निर्देश तथा कार्यवाही करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान सभी कार्यालयों में कर्मचारियों की समय पर उपस्थिति सुनिश्चित कराने के भी निर्देश दिए। कलेक्टर ने पानी की टंकियों से पानी के रिसाव को अतिगंभीरता से लेते हुए समय पर नल बंद नही करने वाले लोक निर्माण विभाग के कर्मचारी ललन सिंह को नोटिस जारी करने के निर्देश मौके पर उपस्थित अपर कलेक्टर को दिए।
   निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने सहायक आयुक्त  आदिवासी विकास के कार्यालय का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कार्यालय की स्थिति बहुत की अव्यवस्थित पाई गई। अभिलेखों का रख-रखाव एवं स्वच्छता व्यवस्था भी सही नही पाई। कार्यालय कक्ष के सामने प्रसाधन व्यवस्था भी अव्यवस्थित एवं अस्वच्छ पाई गई जिसके लिऐ तत्काल साफ-सफाई कराने के निर्देश दिए गये। कार्यालय मंे स्थापना शाखा के कर्मचारियों की द्वितीय सेवा पुस्तिका संधारित कर संबंधित कर्मचारियों को प्रदाय किये जाने के निर्देश दिए गये एवं छात्रवृत्ति स्वीकृति एवं वितरण की अद्यतन स्थिति प्रस्तुत करने हेतु निर्देशित किया गया। कार्यालयीन डाक व्यवस्था को प्रतिदिन समयावधि में आवक एवं वितरण की व्यवस्था सुचारू रूप से किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। निरीक्षण के दौरान कार्यालय से मण्डल संयोजक श्री अंसारी, उपयंत्री श्री के.पी. करपे, लेखापाल श्री के.एस. मरावी, सहायक वर्ग 02 श्री डी.आर. नीरज, सहायक वर्ग-03 श्री त्रिवेणी सिंह अनुपस्थित पाये गए। कलेक्टर ने अनुपस्थित कर्मचारियों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। जिला कोषालय के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने  कार्यालय में समुचित साफ-सफाई करने के निर्देश दिए तथा कम्प्यूटर सिस्टम की भी समुचित देखरेख करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान अभिलेख कक्ष को भी व्यवस्थित करने के निर्देश कलेक्टर ने जिला कोषालय अधिकारी को दिए। निरीक्षण के दौरान जिला कोषालय से अनुपस्थित  अधिकारियों और कर्मचारियों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने भू-अभिलेख कक्ष का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान अधीक्षक भू-अभिलेख कक्ष में रखे कम्प्यूटर सिस्टम आदि व्यवस्थित नही पाये गये, विद्युत वायरिंग भी अव्यवस्थित पाई गई जिसे तत्काल सुधार कराने हेतु निर्देशित किया गया। कक्ष में कर्मचारियों की बैठक व्यवस्था  के अवलेाकन  में पाया गया कि उनके टेबल पर सामने नेम प्लेट आदि नही रखी गई है। नस्तियों की सूची तैयार कर पंजीबद्व किया जायें। कलेक्टर ने निर्वाचन शाखा का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान शाखा में पदस्थ कर्मचारियों के टेबिल में नेम प्लेट आदि नही पाये गये एवं टूटे-फूटे फर्नीचर को सही कराने के लिये स्वीकृति प्राप्त कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए तथा साफ-सफाई  तत्काल कराए जाने के निर्देश कर्मचारियों को दिए।



जिला निर्वाचन के  सम्पर्क कक्ष के निरीक्षण  में पाया गया कि उसमें भी  स्वच्छता व्यवस्था सुचारू रूप से नही है। जिसके लिये जिला उप निर्वाचन अधिकारी को स्वच्छता व्यवस्था में सुधार हेतु निर्देशित किया गया। निरीक्षण के दौरान अपर कलेक्टर श्री अशोक ओहरी, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सोहागपुर श्री मिलिंद नागदेवे, कलेक्टर के साथ रहें।