करतारपर पाक सेना का नया दांव

 


करतारपर नई दिल्ली, 7 नवंबर. करतारपुर साहिब जाने वाले भारतीय श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट जरूरी है या नहीं दम पर पाकिस्तान की तरफ से विरोधाभासी बयान आ रहे हैं. पाकिस्तानी पीएम इमरान खान जहां पासपोर्ट जरूरी नहीं होने की बात कह रहे थे तो उनकी सेना कह रही है कि पासपोर्ट जरूरी है. भारत ने इस बारे में पाकिस्तान से स्थिति स्पष्ट करने को कहा था. अब विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को साफ-साफ कहा कि दोनों देशों के बीच जो मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग पर दस्तखत हुए थे, उसके मुताबिक पासपोर्ट जरूरी है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि सबकुछ समझौते के हिसाब से 191 करोड़ होगा, उसमें एकपक्षीय तरीके से कोई बदलाव नहीं होगा.


इमरान नबालाथापासपाट जरूरी नहीं,


सेना बोली जरूरीकुमार ने कहा, पाकिस्तान की तरफ से विरोधाभासी रिपोर्ट्स आ देश विभाग रही हैं. कभी वे कहते हैं कि पासपोर्ट जरूरी है तो कभी कहते हैं कि यह जरूरी नहीं है. हम समझते हैं कि उनके विदेश विभाग और दूसरी एजेंसियों के बीच मतभेद हैं. हमारे पास MoU है और वह बदला नहीं है. उसके मुताबिक पासपोर्ट जरूरी है.


सिद्ध पाक जाने को आतुर, तीसरा पत्र लिखा ।


चंडीगढ. पंजाब के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्ध ने विदेश मंत्रालय को अब तीसरा पत्र लिखा है. इस पत्र के जरिए उन्होंने करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए पाकिस्तान जाने की इजाजत मांगी है. बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने नवजोत सिंह सिद्ध को न्योता भेजा है. पत्र में सिद्ध ने लिखा कि बार-बार रिमाइंडर देने के बाद भी आपने मुझे जवाब नहीं दिया कि सरकार ने मुझे उद्घाटन में जाने की अनुमति दी है या नहीं. उधर, पाकिस्तान ने कहा कि गुरुवार को उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए नवजोत सिंह सिद्ध को वीजा जारी कर दिया है.