खाद बीज की दुकानों पर प्रशासन की जाँच से व्यापारियो का हो रहा अपमान,साहब बोले गलत काम नही करने पर डरने की जरूरत कहा

धन्यवाद कलेक्टर साहब किसानों की चिंता करने के लिए



मंदसौर-कल एक अजीबो घटना क्रम हुवा जिसकी शहर में दिन भर चर्चा रही और होना भी चाहिए क्या राजनीतिक लाभ के चक्कर मे कोन अपनी ही सरकार द्वारा जारी आदेश के खिलाफ जा सकता है पर कल शहर के एक नेताजी ने सरकार के खिलाफ तो गए ही है पर उन 10% दुकान दारो का साथ देकर किसानो के खिलाफ भी होते नजर आए!चर्चा है चर्चा का क्या। चर्चा तो यह भी रही कि वो तो ऐसे भी कमल छाप है? खेर यह इनकी पार्टी का अंदरूनी मामला है! खेती किसान पहले ही अघिक बारिश की मार झेल रहे(बाढ़ पीड़ित)और ऊपर उनको यूरिया के अधिक दाम लेकर उनको लुटा जा रहा है! जिस का एक ऑडियो वायरल हुवा था जिसमे एक दुकान दार किसान से निर्धारित मूल्य से अधिक राशी में खाद बेचने की बात कह रहा है और फिर बिल भी नही दे रहा है खेर दुकान दार की भी अपनी मजबूरी क्यो की वो जिससे बेचने के लिए खाद खरीद रहा है वह भी उस को ज्यादा दाम में दे रहे हैं।खेर यह तो ऑडियो वायरल हुवा ओर जिला कलेक्टर साहब ने इस को गभीरता से लेते हुवे जो दुकान दार निर्धारित मूल्य से ज्यादा कीमत में खाद बेच रहे उनके यहां जाँच की गई तो वास्तविकता में शिकायत सही पाई गई और अब प्रशासन द्वारा इस को लेकर कार्यवाही की जा रही इसी को लेकर जिला बीज,कीटनाशक एवं फर्टिलाइजर्स एसोसिएशन ने कलेक्टर साहब से ज्ञापन के माध्यम से कार्यवाही पर विराम लगाने का अनुरोध किया मगर धन्यवाद कलेक्टर साहब का जिन्होंने सभी व्यापारियो ओर उनका नेतृत्व करने वाले को सत्यतासे रूबरू करवाया व कहा कि 90% सही व्यापारी उन 10% गलत काम करने वालो का साथ ना दे अगर आप गलत नहीं है तो आपको डरने की जरूरत नही ओर जो गलत है वो कार्यवाही से बचेगा नहीं ओर साहब ने कहा कि पहले ही किसान बाढ़ पीड़ित हैं और ऊपर से उनसे निर्धारित मूल्य से अघिक राशि ली जा रही है जिसे हम बरदास नहीं करेंगे अगर आप मे से भी कोई व्यापारी गलत करेगा तो उसके खिलाफ भी कार्यवाही होगी। मतलब साहब ने खुलकर यह संदेस दिया कि आप कार्यवाही रोकने का दबाव ना बनाए ओर गलत का साथ नही दे।खेर अभीतक की खाद की दुकानों पर हुई कार्यवाही शिकायतों पर हुई है पर जिला प्रशासन को समय समय पर इन की रूटिंग जाँच भी करना चाहिए!।


Popular posts from this blog

आज से खुलेंगी किराना दुकानें, खरीद सकेंगे राशन, प्रशासन ने तय किए सब्जी के रेट, देखें लिस्ट

3 जिले पूरी तरह सील, 11 जिलों में टोटल लॉकडाउन, बाहर निकले तो होगी FIR

आपदा प्रबन्धन समिति में गरीबों को भोजन देने का जिम्मेदारी साहब को दी गई है पर साहब अपने कुछ खास मित्रो का ज्यादा ख्याल करते दिखे ये वही है जिनके ऊपर घोटालों की लम्बी लिस्ट तैयार है,