मां शारदा देवी मंदिर में दर्शनार्थियों के साथ किया जा रहा भेदभाव|जिम्मेदार तंत्र मामले से अवगत होते हुए भी|आखिर नजरअंदाज कर क्यों साधे बैठे चुप्पी


                    मैहर देवी जी धाम स्थित त्रिकूट पर्वत पर विराजमान| 52 शक्तिपीठों में एक मां शारदा आदिशक्ति जगत जननी| मां शारदा का मंदिर चढ़ा मनमानी एवं भेदभाव की भेंट|वही मंदिर में मौजूद आधा दर्जन से ज्यादा मां शारदा प्रबंधक समिति के कर्मचारियों अलावा| पैसे की नशे में चूर एवं लंबी पहुंच में मदमस्त असामाजिक तत्वों के द्वारा| दर्शनार्थियों के साथ इस तरीके भेदभाव किया जाता है जैसे कि देश के कोने कोने से आने वाला श्रद्धालु से कोई बहुत बड़ा गुनाह कर दिया हो|जिसके कारण मंदिर गर्भ ग्रह के नजदीक पहुंचते ही|इस कदर का व्यवहार किया जाता है जैसे कि गरीब लाचार असहाय होना बहुत बड़ा पाप है| जबकि अगर देखा जाए तो रसूखदारो दर्शन करने का ऐसा सिस्टम उपलब्ध कराया जाता है जैसे कि|मंदिर में विराजमान मां शारदा की मनमोहित झलक फीकी पड़ जाती है|वहीं सबसे बड़ा सवाल कि आखिर धार्मिक स्थलों में भेदभाव की परंपरा आखिर कब खत्म होगी|और समाज में रह रहे सभी जाति धर्म समुदाय के लोगों के बीच आपसी भाईचारा कायम हो पाएगा❓



Popular posts from this blog

आपदा प्रबन्धन समिति में गरीबों को भोजन देने का जिम्मेदारी साहब को दी गई है पर साहब अपने कुछ खास मित्रो का ज्यादा ख्याल करते दिखे ये वही है जिनके ऊपर घोटालों की लम्बी लिस्ट तैयार है,

शिवराज सरकार के लिए खुशखबरी, इंदौर, भोपाल में रिकवरी दर बढ़ी

पुलिस द्वारा करीब एक करोड़ रुपए कीमती अवैध सुपारी भरा ट्रक पकड़ा