मदन एवं यादवेंद्र के बहाली पर उठे सवाल अनूपपुर

अनूपपुर। जिले के आदिम जाति सहकारी समिति छिल्पा में पदस्थ प्रभारी प्रबंधक मदन मोहन मिश्रा एवं फुनगा, मझगवां में पदस्थ प्रभारी प्रबंधक यादवेंद्र गौतम को संभागायुक्त आर बी प्रजापति के निर्देशानुसार किसानों के साथ किए गए धोखाधडी एवं प्रशासन की योजनाओं में लापरवाही बरतने पर निलंबित कर दिया गया था, दो माह बीतने के बाद भी आरोपी दोनों प्रबंधकों को बहाल करने की प्रक्रिया प्रारंभ है, ऐसी कार्यवाही से कहीं न कही सवाल खडे हो रहे हैं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक छिल्पा प्रबंधक मदन मोहन मिश्रा, फुनगा प्रबंधक यादवेंद्र गौतम, अमलई-पयारी प्रबंधक मो नफीस पर विगत वर्ष कई क्विंटल धान खरीदी में धोखाधड़ी किए जाने का मामला था, उक्त मामले में आपराधिक प्रकरण दर्ज हुआ था, द्वय प्रबंधकों को क्षणिक समय के लिए निलंबन कर बहाली एवं नफीस अहमद धान खरीदी में आरोपी सिद्ध होने पर आपराधिक प्रकरण दर्ज होने के बावजूद भी श्री नफीस का निलंबन तो दूर उनका प्रमोशन कर अमलई-पयारी के साथ-साथ पसान का प्रबंधक बनाया गया है, जो जांच का विषय है। 


अनूपपुर। नगरपालिका परिषद अनूपपुर के मुख्य नगरपालिका अधिकारी यशवंत वर्मा एवं नगरपालिका प्रशासनिक समिति के अध्यक्ष रामखेलावन राठौर ने भारत सरकार के निर्देशानुसार स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत नगर पालिका परिषद अनूपपुर के सदस्यों की टीम के द्वारा शहर में स्वच्छ भ्रमण कार्य किया गयाजिसमें सभी थोक विक्रेताओं एवं फुटकर विक्रेताओं को समझाईश दी गई और साथ में गन्ना विक्रेताओं के द्वारा गंदगी करने पर ३५० रूपये का चालान किया गया। जिसमें ७ गन्ने वालें शामिल हैं, जिसमें ई-नगर पालिका के पोर्टल पर राशि जमा की गई। साथ ही सभी गन्ने वालों को डस्टबीन रखने के लिए प्रेरित किया, जिससे अपना शहर स्वच्छ एवं संदर बन सके। इस अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष रामखेलावन राठौर के द्वारा सभी नगरवासिायों से अपील की है कि सिंगल यूज प्लास्टिक प्रतिबंधित किया गया है जो पूर्णतः वर्जित है। कृपया आप सभी कपडे या जूट के थैले का उपयोग करें।


वेंकटनगर। पिछले ५ वर्षों से ग्राम पंचायत वेंकटनगर के लाइनपार संचालित प्राथमिक पाठशाला भवन जर्जर हो जाने की वजह से विद्यालय आंगनबाड़ी केंद्र में लग रही थी। भवन की जर्जर हालत और छात्रों को आंगनबाडी में पढ़ने में आ रही दिक्कतों को लेकर समस्या उजागर किया गया, जिसके फलस्वरूप जिला शिक्षा केंद्र ने शासन को विद्यालय के नवीन भवन हेतु स्टीमेट बनाकर भेजा था जो स्वीकृत हो गया हैकरीब ५.७५ लाख की लागत से अब पुराने जर्जर भवन को गिरा कर उसी स्थान पर दो कमरे और एक कार्यालय का भवन बनाया जायेगा जिसका गुरूवार को क्षेत्रीय विधायक कुंदेलाल सिंह मार्कों, जिला परियोजना समन्वयक हेमंत खैरवार, सरपंच दादूराम पनिका, उपसरपंच वेदप्रकाश पाण्डेय, गया प्रताप सिंह, धीरेंद्र सिंह भदौरिया, राघवेंद्र सिंह, विनोद शुक्ला एवं ग्रामीणों की उपस्थिति में नवीन भवन का शिलान्यास पूजन कार्यक्रम हुआ।