महाराष्ट्र में सियासी संकट के बीच राज्यपाल ने की राष्ट्रपति शासन की सिफारिश

 


महाराष्ट्र में सियासी घटनाक्रम पल-पल बदल रहा है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शरद पवार से बात की है और वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं को महाराष्ट्र में सरकार गठन पर आगे की बातचीत के वास्ते राकांपा प्रमुख से मुलाकात के लिए अधिकृत किया है। इससे पहले शिवसेना ने सोमवार को दावा किया कि महाराष्ट्र में भाजपा के बिना उसकी सरकार का समर्थन करने के लिए राकांपा और कांग्रेस 'सैद्धांतिक समर्थन देने पर सहमत हो गयी हैं लेकिन वह राज्यपाल द्वारा तय समयसीमा के पहले इन दलों से समर्थन पत्र नहीं ले सकी। राज्यपाल ने तीन दिन की और मोहलत देने के शिवसेना के अनुरोध को ठुकरा दिया। कांग्रेस वैचारिक रूप से अपनी प्रतिद्वंद्वी शिवसेना के साथ समझौते का कोई फैसला जल्दबाजी में लेती प्रतीत नहीं हुई और उसने शिवसेना को समर्थन देने के मुद्दे पर चुनाव पूर्व की अपनी सहयोगी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के साथ आगे और बातचीत करने का फैसला किया है।