मैंहर के कबाड़ खाना निगल रहे जिंदा वाहन


मामला सतना जिले की मैंहर तहसील का है जहां कबाड़ खानों के कारोबार के पीछे कई गुल खिलाये जा रहे है कबाड़ खानों में वाहनों को काटने की मशीन रखी हुई है जो मैंहर पुलिस और प्रशासन के अनुसार जायज है 5-5 एकड़ में फैले कबाड़ खानों में वाहन अंदर जाते है लेकिन उनके पुर्जे ही कबाड़ के रूप में बाहर आते है ! कबाड़ ले जाने वाले वाहनों के अतिरिक्त यहां कभी अमूल्य दूध का कंटेनर आता है तो कभी और वाहन आखिरकार सबकी नजरों से बच कबाड़ खाने के बाहर क्या जाता है निश्चित ही इन कबाड़ खानों में मैंहर पुलिस मेहरवान है जिस कारण आज तक इनके खिलाफ कोई कार्यवाही नही होती वही सूत्रों की माने तो उद्योग में चोरी सरकारी बिल्डिंग की चोरियों का सामान इन कबाड़ियों के यहां मिल चुका है लेकिन जिम्मेदारों ने ले देकर रफा दफा कर दिया आखिर चोरों के सरताज बने ये कबाड़ी पर मैंहर पुलिस क्यो मेहरवान है ! वही मैंहर पुलिस इन कबाड़ियों को पाकसाफ कह रही है तो मैंहर पुलिस बताये की चोरी हुई मोटरसाइकलों में कितने मामले कायम हुए कितनो की गाड़ियां मिली और कितनो की शिकायत सिर्फ एक कोरे कागज में सिमट के रह गई है ! वाहन चोरी हो या रोड टैक्स चोरी सभी का कनेक्शन इन कबाड़ियों से है जो कबाड़ का कारोबार करते करते कुछ ही वर्षो में अरब पति ह्यो गए बचाव के लिए बैंकों से लोन लिया लेकिन पर्दे के पीछे क्या है जाँच ह्यो तो सब राज्य खुल जाएंगे ! इनकम टैक्स विभाग की नजरों से भी ये कबाड़ी टैक्स चुरा रहे है जल्द ही मैंहर में चारो तरफ जड़ जमाये बैठे इन कबाड़ियों के खिलाफ कार्यवाही हो और मैंहर के कई अनसुलझे अपराधी राज बाहर आये !


Popular posts from this blog

कोतमा में राजश्री सहित कई  उत्पादों की कालाबाज़ारी जोरों पर

आंगनबाड़ी केंद्र वार्ड नं 13 में किया गया टीकाकरण कार्यक्रम

जनता के हितार्थ कार्य ही मेरी पहली प्राथमिकता : सुनील सराफ