नहीं जागी सरकार तो दिल्ली की तरह प्रदूषित हा मापाल

पहली बार प्रदेश के दो शहर दिल्ली की तरह प्रदूषित, एयूआई 300 के ऊपर, मंडीदीप और कटनी की हवा बहुत राब स्थिति में


भोपाल। इस साल राजधानी सहित प्रदेश के अन्य शहरों में भी दिल्ली की तरह प्रदूषण दिखाई दे रहा है। पिछले एक महीने से भोपाल, मंडीदीप सहित अन्य शहरों की हवा में प्रदूषण बढ़ गया। इसकी सबसे बड़ी वजह राजधानी सहित अन्य शहरों के आसपास हो रही धान की खेती भी है। धान कटाई शुरू हो गई है। धान कटाई के बाद उसकी पराली या नरवाई भी जलाई जा रही। इसके अलावा जर्जर सड़कों से उडने वाली धूल ने शहरों की हवा को खराब कर दिया है। रविवार को मंडीदीप और कटनी की हवा तो दिल्ली की तरह प्रदूषित मिलीराजधानी सहित छह शहरों की हवा का स्तर खराब रहा। सिर्फ देवास और रतलाम की हवा का स्तर औसत रहा। यह पहला मौका है जब प्रदेश के दो शहरों का एयूआई 300 और 300 के ऊपर पहुंच गया है। पिछले एक महीने में दस से बारह दिन ऐसी स्थिति बनी है। मंडीदीप और कटनी की हवा तो सांस लेने के लायक नहीं है। प्रदूषण के स्तर को सुधारने सरकार को सख्त कदम उठाने की जरूरत है। अगर अभी सेसख्त कदम नहीं उठाए गए, तो हवा में फैल रहे प्रदूषण को रोकना मुश्किल हो जाएगा। फसल कटाई के बाद उसकी पराली या नरवाई जलाने वालों को जागरुक करने की जरूरत है। हर साल जिला स्तर पर निर्देश तो निकाले जाते हैं, लेकिन उन पर अमल नहीं होता है। इस वजह से हर साल किसान खेतों में आग लगाकर नरवाई जलाते हैं। इससे प्रदूषण फैलता है। इस समस्या से बचने के लिए किसानों और रहवासियों को जागरुक करने की जरूरत है। इसके अलावा शहर की सड़कों पर धुंआ छोडने वाले पुराने वाहन भी धडल्ले से दौड़ रहे हैं। 


नहीं सुधर रही सड़कें


शहर की ज्यादातर सड़कें खराब हो चुकी हैं। सरकार ने निर्देश दिए थे कि बारिश त्म होने के बाद सड़कों की मरम्मत कर ली जाएगी, लेकिन सड़कों अब भी खराब हैं। लिंक रोड 1, 2, 3, राजावन के सामने की सड़क, वीआईवी रोड़ सहित कुछ और सड़कों को छोड़कर शहर की अन्य सी सड़कों जर्जर हो गई हैं। इन सड़कों पर दिनार धूल उड़ रही है। इस वजह से भी प्रदूषण का स्तर कम नहीं हो रहा है।