नकली जीरे : सेहत के लिए है खतरनाक

नई दिल्ली। देश के दो राज्यों में चल रहा नकली जीरे का कारोबार अब दिल्ली तक पहुंच गया है। इससे पहले राजस्थान और गुजरात में नकली जीरे ने अपनी दस्तक दे दी थी। दिल्ली में पहली बार पकड़ी गई नकली जीरे की खेप ने नई मुसीबत खड़ी कर दी है। यह जंगली घास, गुड़ की पात और पत्थर के पाउडर को मिलाकर तैयार किया जा रहा है, जो सेहत के लिए बेहद खतरनाक है। नकली जीरे के सेवन से न केवल स्टोन का खतरा है, बल्कि इसके लगातार सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी शरीर की इम्यूनिटी भी कमजोर हो जाती है। यह कैंसर का भी कारण बन सकता है। इस बारे में डॉक्टरों का कहना है कि यह मिलावट बहुत खतरनाक है और आम लोगों के जीवन से खिलवाड़ है। इस पर तुरंत रोक लगनी चाहिए। मिलावटखोरों पर सख्त कार्रवाई की जरूरत है। न्यूट्रीशनिस्ट के मुताबिक जिस तरह से इसे तैयार किया जा रहा है और जो चीजें मिलाई जा रही है, उससे स्टोन होने का खतरा हैइसके सेवन से रोगों से लड़ने की शरीर की क्षमता कम हो जाती है। उन्होंने बताया कि इंसान की बॉडी मिलावटी चीजें खाने के लिए नहीं बनी है।गुजरात और राजस्थान में नकली जीरे का कारोबार कई महीनों से चल रहा है। वहां पिछले कुछ महीनों में नकली जीरे की कई खेप पकड़ी गई हैं।


Popular posts from this blog

आंगनबाड़ी केंद्र वार्ड नं 13 में किया गया टीकाकरण कार्यक्रम

कोतमा में राजश्री सहित कई  उत्पादों की कालाबाज़ारी जोरों पर

जनता के हितार्थ कार्य ही मेरी पहली प्राथमिकता : सुनील सराफ