पराली के लिए सरकार पराली प्रवंधन से बात कर बनाए योजना : आगा यूनुस


   पर्यावरण पर सुप्रीम कोर्ट की सख्ती हितकारी है जिसको सब लोगों को अमल में लाना चाहिए। लेकिन दूसरी तरफ किसान विकल्पों की मांग कर रहा है। किसान द्वारा पराली जलाने से पूरा वातावरण जहरीला हो जाता है। मिट्टी की ऊपरी सतह भी जल जाती है जिससे भूमि की उपजाऊ शक्ति कम हो जाती है। अगली फसल के लिए किसान को ज्यादा पानी, खाद, कीटनाशक दवाइयों का इस्तेमाल भी करना पड़ता है। यह बातें कांग्रेस नेता आगा यूनुस ने कहीं। उन्होंने कहा कि सरकार को पराली प्रबंधन पर देश के बड़े कॉर्पोरेट के जरिए ठोस चर्चा कर किसानों व प्रदूषण के लिए काम करने के लिए योजना बनानी चाहिए।  प्राइवेट कंपनियां पराली से चारा, गत्ता, बिजली व एथेनॉल बना सकती हैं।