पेट्रोल फिलिंग पंप पर मैनेजर शैलेंद्र शर्मा की मनमानी

 


झपकते ही पेट्रोल डीजल में होती है कटामारी


पेट्रोल फीलिंग पेट्रोल पंप में रामपुर बघेलान सहित हजारों लोग रोजाना ईंधन भरवाने पहुंचते हैं लेकिन पेट्रो फीलिंग पेट्रोल पंप के मैनेजर शैलेंद्र शर्मा की मनमानी के चलते पेट्रोल पंप में उन्हें हर तरह की सुविधा का लाभ नहीं मिल पा रहा है टायर में हवा भरने हो तो कहीं मशीन काम नहीं करती  बाथरूम तो है मगर उसमें हमेशा ही ताला लगा रहता है लोगों को बिल मांगने पर दिया जाता है ऐसी कई नियम में जिसका पालन से देखने के लिए किया जा रहा है हालांकि संबंधित कंपनियों का ऑडिट भी होता है जिसमें कंपनी बालों को कमियां नजर नहीं आती इसी तरह विभाग वाले भी कोई ठोस कार्रवाई नहीं करते


यह होना चाहिए
शिकायत रजिस्टर या शिकायत बॉक्स, पेट्रोल डीजल की कीमत बताने वाला बैनर, अग्नि दुर्घटना से बचने वाले यंत्र, ईंधन लेने वालों को बिल नियमित तरीके से देना, फोन की सुविधा, पेट्रोल-डीजल मापक यंत्र, मिलावट जांचने व्यवस्था, वाहनों में फ्री हवा देने की मशीन होना चाहिए, पीने के साफ पानी वाला वाटर कूलर, बाथरूम की सुविधा, फ़ास्ट एंड बॉक्स, सुविधाओं से परहेज मगर मैनेजर शैलेंद्र शर्मा की मनमानी के चलते फोन की सुविधा सिर्फ पंप वालों के लिए ही मिल रही है हवा का कोई इंतजाम नहीं है फास्ट एंड बॉक्स की भी सुविधा नहीं है लिखित शिकायत दर्ज कराने वाले रजिस्टर भी पंप के कार्यालय पर रखी जाती है 


पलक झपकते ही पेट्रोल डीजल में होती है कटामारी ₹50 में 40 का पेट्रोल


गाड़ी का एवरेज कम या ज्यादा होने से होता है क्षेत्र के पेट्रो फीलिंग पेट्रोल पंप में कांटा मारने की शिकायत मिलती है चाहे आप लीटर के हिसाब से लिया 100 200 काले पेट्रोल पंप के कर्मचारी हर तरह से कांटा मारने में माहिर होते हैं कुछ ग्राहकों को कहना है कि जब भी उनकी वाइफ में रिजर्व लगता है उस दौरान वे बाइक पर मीटर देख लेते हैं इसके बाद अपनी बाइक पर 1 लीटर पेट्रोल भरवा लेते हैं कभी 40 किलोमीटर में रिजर्व लग जाता है तो कभी 50 में कई बार तो 40 से भी कम एवरेज देती है जब कि सही माप से पेट्रोल डालें तो उनकी गाड़ी प्रति लीटर 55 का एवरेज देती है इसका प्रमाण  बड़ी बोतल लेकर 1 लीटर पेट्रोल गाड़ी की टंकी में डालकर देख लिया है ऐसा करने पर हर बार गाड़ी 55 से 60 का एवरेज देती है और यह सब काम मैनेजर शैलेंद्र शर्मा के संरक्षण पर होता है क्योंकि जब भी कोई ग्राहक मैनेजर शैलेंद्र शर्मा से शिकायत करता है तो मैनेजर शैलेंद्र शर्मा कहते हैं कि पहले आप मुझसे ₹2000 की शर्त लगाई है उसके बाद ही मैं चेक कर लूंगा कि पेट्रोल कम है कि नहीं यदि पेट्रोल पूरा रहा तो ₹2000 इस शर्त आप हार जाएंगे जिसके कारण ग्राहक ना चाहते हुए भी मन मार कर चले जाते हैं


 


Popular posts from this blog

आंगनबाड़ी केंद्र वार्ड नं 13 में किया गया टीकाकरण कार्यक्रम

कोतमा में राजश्री सहित कई  उत्पादों की कालाबाज़ारी जोरों पर

जनता के हितार्थ कार्य ही मेरी पहली प्राथमिकता : सुनील सराफ