पूरे गांव में उल्टी दस्त से ग्रसित रहवासी, कुछ नई प्रजाति की मरिखयों का कहर

ब्यूरो चंदन कोतमा/अनूपपुर


। जिले के कोतमा में वार्ड नं 11 में समस्त रहवासियों को उल्टी दस्त का प्रकोप झेलना पड़ रहा है और इसका कारण है नगरपालिका प्रशासन के द्वारा की जाने वाली लापरवाही कोतमा नगरपालिका प्रशासन स्वच्छता अभियान के तहत पूरे नगर में साफ सफाई को लेकर काफी सजग लेकिन पूरे नगर से कचरा एकत्रित करने के पश्चात कचरे को व्यवस्थित तरीके से फेंकने की कोई समुचित व्यवस्था न होने के कारण उस कचरे को वार्ड नं 11 के पास ही डम्प कर दिया जाता है,जिससे आसपास का पूरा क्षेत्र प्रदूषित हो गया है और इस प्रदूषण युक्त वातावरण में लोगों को बीमारियों का प्रकोप सहन करना पड़ रहा है। पूरे क्षेत्र में कुछ विशेष प्रकार की मक्खियों ने अपना कहर फैलाया है।आसपास के पूरे क्षेत्र में लापरवाही पूर्ण तरीके से यहाँ वहाँ कचरे फेंक देने और मरे हुए जानवरों के मृत शरीर को खुले में आवासीय क्षेत्र के आसपास फेंक देने के कारण ही आसपास का पूरा वातावरण दूषित हो चुका है।नगरपालिका के द्वारा वार्ड नं 11 में वितरित कराए जाने वाले पानी की स्थिति भी बहुत अच्छी नहीं है, लोगों को गंदे पानी से ही गुजारा करना पड़ता है।इसके पहले भी इन विषय वस्तुओ पर रहवासियों ने नगरपालिका प्रशासन को सूचित कराया था लेकिन की गई कार्यवाही क्षणिक होती है और कुछ दिनों के पश्चात फिर वही लापरवाही पूर्ण कार्य का संचालन होता है। इन सब से त्रस्त होकर नगरवासियों ने एस डी एम कोतमा,महाप्रबंधक एस ई सी एल जमुना कोतमा क्षेत्र, विधायक कोतमा और नगरपालिका अध्यक्ष को ज्ञापन सौंपकर फरियाद की है कि जल्द से जल्द इस व्यवस्था पर सुधार करवाने की कृपा करें।हम इस क्षेत्र के पुस्तैनी निवासी हैं, यहां से मवेशियों के आने जाने का रास्ता है इसलिए नगरपालिका द्वारा डंप कराए गए कचरे को यहां से शीघ्रता से हटवाया जाए और यहां कचरा डंप न कराया जाए।