प्रशासन ने ली जल उपलब्धता की जानकारी, कार्रवाई के निर्देश

अपना लक्ष्य 


कटनी : जिले में किसान अब रबी फसलों की तैयारी में लगे हैं। इसके लिए उन्हें पर्याप्त पानी की जरूरत पड़ेगी। लेकिन इलाकों में पर्याप्त सिंचाई के अभाव में किसान अभी परेशान हैं। रबी फसलों के लिए कृषकों को पर्याप्त सिंचाई के लिए पानी की उपलब्धता कराई जा सके। इसके लिए प्रशासन ने जिले में सिंचाई क्षमताओं का जायजा लिया है। वर्ष 2019-20 में रबी सिंचाई के लिए लक्ष्य निर्धारित किया गया है। वर्तमान में 111.28मि घनमी पानी संबंधित सिंचाई परियोजनाओं में शेष बचा है। जिले में रुपांकित उपयोगी जल भंडारण क्षमता 170.37 मि घन मी के विरुद्ध 127.11 मि घनमी जलाशयों में जल संग्रहित है। वर्ष 2019 में सिंचाई के लिए निर्धारित लक्ष्य 10061 हैक्टेयर के विरुद्ध 3225 हैक्टेयर क्षेत्र में 5 नवंबर तक सिंचाई की गई है। 1336 हैक्टेयर क्षेत्र में कृषकों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। ढीमरखेड़ा क्षेत्र में लगभग 97 ग्रामों के कृषकों को सिंचाई के लिए जल उपलब्ध कराने की योजना पर कार्य किया जा रहा है। मौजूद नहरों को सुधार के निर्देश जिले भर में सिंचाई उद्वहन के लिए मौजूद नहरों के संधारण का कार्य समय पूर्व कराना सुनिश्चित करें। इसके लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों की ड्यूटी लगाकर नहरों की वर्तमान स्थिति की जांच कराएं और आवश्यकता अनुसार नहरों की साफ- सफाई, टूटफूट रिपेयरिंग, सीपेज इत्यादि को दुरुस्त करने कार्रवाई करें। 1 . फाइल जिले अंतर्गत 1 मध्यम, 88 लघु जलाशय हैं। साथ ही 13 रेगुलेटर, 5 प्रत्यावर्तन, 4 वियर, 5 एनीकेट एवं 4 उद्वहन सिंचाई कुल 120 सिंचाई योजनाएं निर्मित हैं। इन सिंचाई परियोजनाओं की क्षमता खरीफ के लिए 26 हजार 68 हैक्टेयर और 12 हजार 287 हैक्टेयर रबी की है। कलेक्टर ने ली बैठक इससे पहले जिले में रबी फसल को देखते हुए कलेक्टर शशिभूषण सिंह की अध्यक्षता व विधायक बहोरीबंद प्रणय प्रभात पांडेय की उपस्थिति में सम्पन्ना जिला जल उपयोगिता समिति की बैठक आयोजित की गई। कलेक्टर ने जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को दिए। इस अवसर पर कार्यपालन यंत्री जल संसाधन आरके खुराना, उप संचालक कृषि एके राठौर, एनबीडीए, समिति के सदस्य, खनिज विभाग के अधिकारियों सहित अन्य संबंधित विभागीय अधिकारी भी उपस्थित रहे। बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने जिले में उपलब्ध सिंचाई परियोजनाओं की जानकारी ली। नहरों के अतिक्रमण को लेकर सख्त क बैठक के दौरान जिले में विभिन्ना क्षेत्रों में स्थित नहरों में किए जा रहे अतिक्रमण को लेकर कलेक्टर शशिभूषण सिंह ने सख्त कार्रवाई करते हुए शासकीय नहरों से अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण वाले क्षेत्र में संबंधित एसडीएम, तहसीलदार व पुलिस विभाग के अधिकारियों से संपर्क कर आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करें। इसके साथ ही नहरों को नुकसान पहुंचाने व नहरों को क्षतिग्रस्त करने वालों के विरुद्ध भी आपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध करने के स्पष्ट निर्देश कलेक्टर ने दिए। जिला जल उपयोगिता समिति अंतर्गत जल उपभोक्ताओं से निर्धारित राशि की वसूली की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने विशेष वसूली कैम्प के आयोजन करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि कैंपों का तिथिवार व शिविर आयोजन के स्थलों का चयन कर कैलेंडर जारी करें और वसूली कार्य में प्रगति लाएंजलाशयों में पालें मछली ___ जलाशयों में शासन के निर्देशानुसार मत्स्य पालन की गतिविधियों को लेकर भी कलेक्टर शशिभूषण सिंह ने आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि समस्त शासकीय जलाशयों व तालाबों में मतस्य विभाग के सहयोग से मछली पालन की गतिविधियां जारी निर्देशानुसार अनिवार्य रुप से की जाए। बड़वारा ___ विकासखंड के मालन व बहोरीबंद के छपरा ग्राम में मौजूद सिंचाई की नहरों में क्षेत्र में संचालित खदानों से नहरों को हुई क्षति के संबंध में खनिज विभाग के अधिकारियों को कलेक्टर ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि संबंधित माईस संचालकों को नोटिस जारी करें और आवश्यकता पड़ने पर संबंधितों की लीज निरस्तीकरण की कार्रवाई भी की जाए।