पुराने शौचालयो को नया बताकर सरपंच सचिव ने मिलकर डकार  थी राशि


4 लाख 16 हजार की राशि से बने शौचालय निर्माण की जांच करने जाएगी जनपद की टीम तत्कालीन महाराजपुर विधायक मानवेन्द्र सिंह ने उठाया था यह मामला आश्वसन के बाद विधानसभा में मांगी गई इस मामले की  जानकारी
लवकुशनगर/ गौरिहार जनपद क्षेत्र के ग्राम पंचायत मिश्रन पुरवा में वर्ष 2015-16 में करीब 4 लाख 16 हजार की लागत से बनाये गए शौचालय की जांच करने जनपद गौरिहार से टीम जाएगी है यह मामला महाराजपुर विधानसभा के तत्कालीन विधायक मानवेन्द्र सिंह ने यह मामला विधानसभा में उठाया था विधानसभा में यह मामला आश्वसन में आने के बाद करीब दो वर्ष बाद इस मामले की जानकारी मांगी गई है जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत मिश्रनपुरवा के तत्कालीन सरपंच गोरेलाल मिश्रा और सचिव सुरेश अनुरागी ने करीब 44 शौचालय निर्माण को फर्जी तरीके से दर्शाकर 4 लाख 16 ही राशि को ठिकाने लगाया गया था इस मामले की ग्रामीणो द्वारा पूर्व में शिकायत की गई थी विधानसभा में यह मामला उठने के बाद विभागीय जानकारी भेजी गई लेकिन जबाब संतुष्ट न होने के कारण दो साल बाद यह मामला आश्वसन में आने के बाद इस मामले की फिर से जानकारी मांगी गई है इस मामले की बारीकी से जांच के लिए जनपद सीईओ ने जांच दल गठित किया है 


पुराने शौचालयो को नया बताकर राशि को ठिकाने लगाने का आरोप
ग्राम पंचायत मिश्रनपुरवा में  तत्कालीन सरपंच सचिव ने मिलकर शौचालय निर्माण के लिए स्वीकृत राशि को ठिकाने लगाने के लिए करीब 44 शौचालय निर्माण में गड़बड़ी करते हुए पुराने शौचालयों को नया बताकर उक्त राशि को ठिकाने लगाया गया था ग्रामीणो का आरोप है कि तत्कालीन सचिव ने इसके अलावा और भी निर्माण कार्यो में अनिमित्ताये बरती थी उन निर्माण कार्यो की भी जांच होना चाहिए वर्तमान में उक्त सचिव जनपद छतरपुर में किसी ग्राम पंचायत में पदस्थ है 
इनका कहना है 
विधानसभा में यह मामला आश्वसन में आने के बाद विभाग को पत्र आया है कि मामले की जांच कर रिपोर्ट भेजी जाए जनपद कार्यालय से जांच दल ग्राम पंचायत मिश्रनपुरवा पहुचकर मामले की जांच कर अपनी रिपोर्ट सीईओ को प्रस्तुत करेगा
सुयश सक्सेना ब्लॉक कोडीनेटर जनपद गौरिहार