रीवा का लाल कश्मीर में शहीद पापण CICI परमार मशहाद

शहादहए. रीवा, 7 नवम्बर, देश की रक्षा करते हुए बुधवार की शाम श्रीनगर कुपवाड़ा में रीवा का जाला योग करने के दौरान हए बर्फबारी के बाद हिमस्खलन में दो जवान इसमें भीम बहादर (निवासी- देहरादून, उत्तराखंड) और रीवा जिले के गोदरी 27 ग्राम पंचायत के अखिलेश पटेल शहीदहए गुरूवार की सुबह सूचना मिलने पर पूरे गांव में मातम छा गया. पार्थिव शरीर शक्रवार या शनिवार तक पहंचने की संभावना जताई गई है. रीवा के गढ थाना अन्तर्गत आने वाले गोदरी 27 गांव के निवासी अखिलेश पटेल पिता रमेश पटेल 25 वर्ष चार वर्ष पूर्व भारतीय सेना में भर्ती हुए रक्षा थे. बुधवार की शाम अपनी यूनिट के साथ योग अखिलेश और उनके साथ भीम बहादुर पेट्रोलिंग पर श्रीनगर कुपवाड़ा में थे. सूचना मिलते ही परिजनों का हाल बेहाल घर में छाया मातम गुरूवार की सुबह जैसे ही परिजनों के पास सचना पहंची. मानो पहाड टूट पडा. परे गांव में मातम छा गया. 14 अप्रैल 2014 को अखिलेश भारतीय सेना में शामिल हुए थे और उनकी कम्पनी झांसी में थी, लेकिन ड्यूटी के लिये श्रीनगर में परमार तैनात किये गये थे. अपने दो भाईबहनों में सबसे छोटे अविवाहित थे, बड़े भाई भी सेना में पदस्थ हैं और पिता पेशे से किसान हैं. जबकि दादा भारतीय सेना से सेवा निवृत्त हो चुके है. रीवा पुलिस अधीक्षक आबिद खान ने जानकारी देते हुए बताया कि श्रीनगर में सेना के जवान अखिलेश पटेल शहीद हुए हैं. पार्थिव शरीर आने में समय लगेगा. जम्मू काश्मार म लगातार हा रहा बर्फबारी के चलते आवागमन प्रभावित है. जिसके चलते पार्थिव शरीर आने में समय लगने की संभावना है. झांसी से सेना के तीन अधिकारी शहीद जवान के घर पहुंच गये हैं. वहीं पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी भी शुक्रवार को घर पहुंचे.