समर्थन मूल्य पर धान खरीद 25 नवम्बर से

 


  


 किसानों को उनके उपज का अधिकतम मूल्य देने के लिए शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर धान खरीद 25 नवम्बर से की जायेगी। पंजीकृत किसानों से सहकारी समितियों द्वारा निर्धारित खरीदी केन्द्रों में धान की खरीद की जायेगी। जिला आपूर्ति अधिकारी ने सभी धान खरीदी केन्द्रों में उपार्जन के लिए आवश्यक प्रबंध करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि सभी सहकारी समिति प्रबंधक तथा कृषि उपज मंडी के प्रभारी अधिकारी खरीदी केन्द्रों में पर्याप्त संख्या में वारदाने उपलब्ध करायें। किसानों को एसएमएस के माध्यम से धान खरीदी के दिनांक की सूचना दें। प्रत्येक पंजीकृत किसान से धान की औसत उपज तथा कृषि क्षेत्रफल के आधार पर निर्धारित मात्रा में धान की खरीद की जायेगी। उपार्जन के तीन दिवस के भीतर किसानों के बैंक खाते में राशि का भुगतान करें। सभी खरीदी केन्द्रों में बैनर तथा फ्लैक्स लगाकर किसानों को धान खरीदी के प्रक्रिया, धान खरीदी की अंतिम तिथि, शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य तथा अन्य आवश्यक जानकारी प्रदर्शित करें। इसमें खरीदी से संबंधित शिकायत दर्ज कराने के लिए टोल फ्री नंबर का अवश्य उल्लेख करें। सभी खरीदी केन्द्रों में किसानों के लिए छाया तथा पानी का प्रबंध करें।
 जिला आपूर्ति अधिकारी ने कहा है कि उपार्जित धान का खरीदी केन्द्र से समय पर उठाव एवं सुरक्षित भण्डारण करायें। केवल एफएक्यू गुणवत्ता की ही धान की खरीद करें। धान की गुणवत्ता के संबंध में शिकायत मिलने पर खण्डस्तरीय तथा जिला स्तरीय समिति द्वारा सुनवाई करके निराकरण किया जायेगा। सभी पंजीकृत किसान समय पर खरीदी केन्द्रों में पहुंचकर समर्थन मूल्य में धान विक्री का लाभ उठायें।