संबल योजना घोटाले में कमलनाथ सरकार द्वारा कायर्वाही स्वागत योग्यः शोभा ओझा

अपना लक्ष्य 


भोपाल


विधानसभा चुनावों के पहले कांग्रेस मीडिया विभाग के द्वारा लगाये गये सप्रमाण आरोपों की पुष्टि हुई सरकार


मध्यप्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने आज जारी एक वक्त व्य में कहा कि पिछली भाजपा सरकार द्वारा प्रारंभ की गई संबल योजना में हुए बड़े भ्रष्टाचार का खुलासा, मय प्रमाणों के, कांग्रेस पार्टी ने पिछले विधानसभा चुनावों के पहले किया था। उसी परिप्रेक्ष्य में अब कमलनाथ सरकार ने, पिछली शिवराज सरकार पर लगाए गए कांग्रेस के मीडिया विभाग के सप्रमाण आरोपों की पुष्टि करते हुए उक्त योजना के लगभग 2 करोड़ लाभार्थियों में से 71 लाख अपात्रों के नाम काटने के साथ ही, घोटालेबाजों पर एफआईआर दर्ज कराने का जो निर्णय लिया है, वह स्वागत योग्य है। आज जारी अपने बयान में उक्त विचार व्यक्त करते हुए श्रीमती ओझा ने आगे कहा कि पिछली शिवराज सरकार द्वारा जनहित के नाम पर प्रारंभ की गई संबल योजना का लाभ, वास्तविक पात्रों की अपेक्षा लाखों की संख्या में, उन चहेतों और भाजपा कार्यकर्ताओं को दे दिया गया, जो न केवल अपात्र थे, बल्कि उनमें से कई तो इंकमटैक्स दाता भी थे।


  श्रीमती ओझा ने कहा कि कमलनाथ सरकार का उक्त फैसला इसलिए भी स्वागत योग्य है कि प्रदेश के लाखों करदाताओं के पैसे से, ऐसे लोगों को लाभान्वित किया गया, जो पहले से ही आर्थिक रूप से सक्षम थे और जिन्हें किसी सहायता की आवश्यकता नहीं थी, लेकिन भाजपा के चहेते होने के कारण उन्हें गरीबों के हक के पैसों का बलात् गबन करने दिया गया। श्रीमती ओझा ने कहा कि पिछली भाजपा सरकार के द्वारा किए गए सभी घोटालों की एक के बाद एक जांच शुरू कर, कमलनाथ सरकार ने यह सिद्ध कर दिया है कि जनता के पैसों की बंदरबांट और संगठित लूट के वह सख्त खिलाफ है और संबल योजना के घोटालेबाजों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की बात कहने के साथ ही, सरकार का यह कथन भी स्वागत योग्य है कि यदि जरूरत पड़ी तो अपात्रों को जारी की गई उस रकम को भी वसूला जाएगा, जिसके वास्तविक हकदार प्रदेश के मेहनतकश गरीब, मजलूम और मजदूर थे।


 


Popular posts from this blog

आज से खुलेंगी किराना दुकानें, खरीद सकेंगे राशन, प्रशासन ने तय किए सब्जी के रेट, देखें लिस्ट

3 जिले पूरी तरह सील, 11 जिलों में टोटल लॉकडाउन, बाहर निकले तो होगी FIR

आपदा प्रबन्धन समिति में गरीबों को भोजन देने का जिम्मेदारी साहब को दी गई है पर साहब अपने कुछ खास मित्रो का ज्यादा ख्याल करते दिखे ये वही है जिनके ऊपर घोटालों की लम्बी लिस्ट तैयार है,