सरकार नकली खाद बीज, कीटनाशक दवाओं पर रोक लगाये : माकपा

अपना लक्ष्य


भोपाल पिछले एक दशक से पूर्व की भाजपा सरकार के संरक्षण में प्रदेश में नकली खाद, बीज और कीटनाशक दवाओं को कारोबार फलता फूलता रहा है। जिससे कृषि संकट के शिकार किसानों की हालत और बदतर हुई है वहीं दूसरी ओर राजनीतिक संरक्षण में इन कंपनियों ने किसानो को लूट कर अपनी तिजोरियों को भरा है। अब जब रबी की फसल की बुआई चल रही है, सरकार को इन कंपनियों पर लगाम लगाकर किसानो की लूट और बर्बादी को रोकने की ठोस पहल करनी चाहिए। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव जसविंदर सिंह ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में कहा है कि पिछले वर्ष बीज,खाद और कीटनाशक दवाओं के 10681 नमूनों में से 952 नमूने अमानक पाये गए थे, इसके आधार पर 161 कंपनियों के खिलाफ कार्यवाही भी हुई। मगर न तो कार्यवाही पर्याप्त है और नही इनके कारोबार पर रोक लगी है। माकपा नेता के अनुसार प्रदेश में करीब 25 हजार करोड़ का खाद, बीज और कीटनाशक दवाओं को सालाना कारोबार है जिसमें से 10 हजार करोड़ का नकली खाद बीज और कीटनाशक दवाओं का गोरखधंधा है। राजनीतिक संरक्षण के बिना इतने बड़े कारोबार का पनपना संभव ही नहीं है। माकपा ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि पिछले सालों में किसानो का इन कंपनियों ने जो नुकसान किया है, उसकी भरपाई के लिए सरकार इन कंपनियो से वसूली कर किसानों की भरपाई करे। साथ ही खाद बीज और कीटनाशक दवाओं की प्रमाणिकता के बाद ही उन्हें बाजार में बेचने की अनुमति देना चाहिए और प्रत्येक डीलर के लिए यह निर्देश जारी किए जायें कि वे बीज, खाद और कीटनाशक दवाओं की खरीदी की रसीद किसान को आवश्य दें ताकि भाविष्य में किसानों को होने वाले नुकसान पर कानूनी कार्यवाही की जाये।


Popular posts from this blog

आज से खुलेंगी किराना दुकानें, खरीद सकेंगे राशन, प्रशासन ने तय किए सब्जी के रेट, देखें लिस्ट

आंगनबाड़ी केंद्र वार्ड नं 13 में किया गया टीकाकरण कार्यक्रम

कोतमा में राजश्री सहित कई  उत्पादों की कालाबाज़ारी जोरों पर