सरकारी राशि का किया जा रहा दुरूपयोग


महज कागजो तक ही बन के राह गयी आंगनवाड़ी



 धरातल पर ग्राम पंचायतों में शासकीय राशि का दुरुपयोग किस तरह किया जा रहा है इसका अंदाजा सतना जिले के अमरपाटन जनपद पंचायतकार्यालय से मात्र 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बछरा ग्राम पंचायत को देखकर लगाया जा सकता है। हरदी और कुलुहा में बिना कार्य कराए ही राशि निकाल ली जिसमें ग्राम के आंगनवाड़ी भवन का निर्माण कागजों में देखा जा रहा है परंतु ठेकेदार और अधिकारियों की मिलीभगत से पूरा आंगनबाड़ी केंद्र ही हजम कर लिया गया है। जहां पर आंगनबाड़ी केंद्र बनाने के लिए 15 लाख 60 हजार पैसे तो पूरे निकाल लिए गए परंतु वहां मौके पर आंगनवाड़ी केंद्र बनाया ही नहीं गया। जिस स्थान पर आंगनबाड़ी केंद्र बनना था वह स्थान खाली पड़ा है। ताज्जूब की बात यह है कि जिस इंजीनियर की देखरेख में या कार्य होना था वह कभी भी मौके पर गया ही नहीं। ग्रामीणों का आरोप है कि यहां तो शासकीय राशि सरपंच और सचिव और बाकी लोगों द्वारा हड़प ली गई है। बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ जीवन के गुर भी सिखए जाते हैं। जब पत्रकारों द्वरा  पड़ताल की गयी  तो पाया कि वह आंगनबाड़ी केंद्र कभी बना ही नहीं और पैसे पूरे निकाल लिए गए हैं।  जबकि यह आगनबाडी केंद्र प्राइवेट भवन में लग रहे हैं सतना जिला कलेक्टर का सख्त आदेश है कि आंगनवाड़ी शासकीय भवन में लगाए जाएं अब देखना यह होगा कि इन भ्रष्टाचारियों के ऊपर क्या कार्रवाई होती है