ससुराल में प्रताड़ना के बाद बागी बनी थी साधना पटेल




सतना: कुख्यात डकैत बबुली कोल के सफाए के बाद दस्यु सुंदरी साधना पटेल को गिरफ्तार कर लिया है। साधान का खौफ यूपी और एमपी के कई जिलों में था। एमपी में दस हजार और यूपी में तीस हजार रुपये का इनाम साधना पटेल पर था। बबुली के बाद चित्रकुट और सतना के इलाके में दहशत था। लेकिन सतना पुलिस करियन के जंगल से मुठभेड़ के बाद साधान को गिरफ्तार कर लिया है।


ऐसे कुख्यात दस्यु सुंदरी के बारे में कहा जाता था कि* वह जिंस और शर्ट में रहती थी। लेकिन गिरफ्तारी के वक्त वह साड़ी पहनी हुई थी। पुलिस जब मीडिया के सामने साधना पटेल को लेकर आई को वह साड़ी और ब्लू कलर की श्वेट शर्ट पहनी हुई थी। थोड़ी देर बाद ही पुलिस उसे मीडिया से दूर लेकर चली गई। साधना की गिरफ्तारी के बाद पुलिस को उम्मीद है कि तराई के इलाके में अब शांति की बयार बहेगी। लेकिन एक छोटे से गांव की लड़की आखिर कैसे एक कुख्यात दस्यु सुंदरी बन गई। उसकी कहानी भी बहुत दिलचस्प है।



बाली उम्र में हो गई शादी
साधना पटेल चित्रकूट जिले के बगैहा गांव की रहने वाली है। साधना को दो भाई भी हैं, दोनों इससे छोटे हैं। परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी। खेती-बाड़ी और मजदूरी कर परिवार भरण पोषण करता था। साधाना की शादी बाली उम्र में ही कर दी गई थी। साधाना मौसी बताती है कि पढ़ने में वह काफी तेज थी। परिवार की स्थिति ऐसी थी कि उसकी शादी कर दी गई।



ससुराल में प्रताड़ना
साधना घरवालों की मर्जी के खिलाफ नहीं गई। शादी के बाद वह ससुराल तो चली गई लेकिन वहं उसे प्रताड़ित किया जाने लगा। ससुराल के लोग उसके साथ दरिंदगी करते थे। साधना ससुराल से भाग गई। कुछ दिन बाद घर के लोगों ने उसकी दूसरी शादी करवा दी। वहां भी साधाना के साथ कुछ ऐसा ही हुआ। फिर भागकर वह घर चली आई। उसके बाद परिवार के लोगों ने बदनामी के डर से उसे बुआ के घर भेजा ।


बुआ के घर से लौटी नहीं
साधना बुआ के घर से ही बागी बन गई। वहीं से कुछ डकैतों के संपर्क में आ गई। ऐसे कहा जाता है कि साधना के बुआ के घर पहले से ही डकैत चुन्नी लाल पटेल का आना जाना था। इसलिए परिचय पुराना था। हालांकि उसके परिजन यह भी मानते हैं कि बुआ घर से ही उसे पचास हजार रुपये में बेच दिया। लेकिन बताया जाता है कि बुआ के घर से वह नवल धोबी डकैत के साथ ही जंगल में गई थी। उसके जेल जाने के बाद उसके कइयों के साथ अफेयर रहे।



नए युवकों फंसाती
*इस दौरान साधना* इलाके के नए लड़कों को अपने प्रेम जाल में फंसाती थी। उनसे डकैतों के लिए जंगल में खाद्य सामग्री मंगवाती और पुलिस मूवमेंट की जानकारी लेती थी। खूबसूरत साधाना के जाल में नए लड़के फंस जाते थे। बाद में उन्हें आभास होता था कि वह गलत कर रहे हैं।


 


फिर छोटू पटेल को फंसाई
इसके बाद साधना ने उसी इलाके संपन्न घराने के लड़के छोटू पटेल को अपने प्रेम जेल में फंसाई। उससे मोबाइल पर घंटों बात करती थी। दोनों अक्सर दूसरे से जंगल में मिलने लगे और इससे प्रेम संबंध और प्रगाढ़ हो गया। इस बीच एक नया मोड़ आया जिसमें नवल धोबी गैंग का सदस्य दीपक शिवहरे जंगल में अलग गिरोह बनाने लगा। लेकिन साधना ने उसे भी अपने प्रेम का हवाला देकर अपने गैंग में शामिल करवा लिया। वहीं छोटू पटेल भी घर छोड़कर साधाना की गैंग में शामिल हो गया।


खुलेंगे कई राज



अब सतना पुलिस को उम्मीद है कि साधना पटेल की गिरफ्तारी के बाद कई राज खुलेंगे। साथ ही इसके साथियों के बारे में भी जानकारी मिलेगी। पिछले एक साल के अंदर इसने कई लोगों के अपहरण कर उनसे लाखों रुपये वसूल किए हैं। पिछले साल से यह सतना पुलिस के लिए सिरदर्द बनी हुई थी।