सतना नगर निगम में पदस्थ इंजीनियर एसके सिंह अपने निजी स्वार्थ के लिए नगर निगम सतना का आर्थिक  नुकसान कर रहे हैं

 सतना नगर के व्यापारी पवन कुमार   कापड़ी ने आज से 5 वर्ष पूर्व कॉलोनाइजर लाइसेंस लिया था उस समय ₹5000 सिक्योरिटी जमा होती थी। पवन कुमार की ₹100000 एफडी जमा हुई । किन्ही कारणों से वे कोई भी कॉलोनी विकास नहीं कर सके इसलिए उन्होंने कॉलोनी विकास की कोई अनुमति भी नहीं ली। वे अपना रजिस्ट्रेशन रिन्यू कराना चाहते हैं, अब रिन्यूअल फीस ₹25000 हो गई क्योंकि उनका टाइम बीत चुका है इसलिए उनको पेनल्टी के रूप में ₹50000 जमा करना पड़ेगा और ₹100000 की बैंक गारंटी लगेगी। पुरानी बैंक गारंटी उनकी वापस हो जाएगी लेकिन एसके सिंह का कोई आर्थिक लाभ नहीं हो रहा है इसलिए वे रजिस्ट्रेशन का रिन्यूअल नहीं कर रहे हैं, जबकि वह ₹50000 जमा करने को तैयार है और ₹100000 की एफडी भी दे रहे है।  नगर निगम से तनख्वाह मोटी- मोटी पाते हैं और नगर निगम का ही आर्थिक नुकसान कर रहे हैं। अगर आज ₹50000 जमा होता है तो वह नगर निगम की आमदनी होती है आयुक्त महोदय को चाहिए कि ऐसे भ्रष्ट इंजीनियर के ऊपर कार्रवाई अवश्य करें जो नगर निगम का आर्थिक नुकसान कर रहा है।


Popular posts from this blog

आज से खुलेंगी किराना दुकानें, खरीद सकेंगे राशन, प्रशासन ने तय किए सब्जी के रेट, देखें लिस्ट

3 जिले पूरी तरह सील, 11 जिलों में टोटल लॉकडाउन, बाहर निकले तो होगी FIR

आपदा प्रबन्धन समिति में गरीबों को भोजन देने का जिम्मेदारी साहब को दी गई है पर साहब अपने कुछ खास मित्रो का ज्यादा ख्याल करते दिखे ये वही है जिनके ऊपर घोटालों की लम्बी लिस्ट तैयार है,