SB कालिंजर नरसंहार का आरोपी अनुराग मिश्रा गिरफ्तार।


16 साल पहले हुए सामूहिक हत्याकांड के बाद पुलिस कस्टडी से फरार 50 हजार रुपये के इनामी अपराधी अनुराग मिश्र को एसटीएफ ने मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया। अनुराग कुख्यात पप्पू यादव गिरोह का सक्रिय सदस्य था
जनवरी 2003 की सुबह इस गिरोह ने कालिंजर क्षेत्र में गोलियां बरसाकर बरात से लौट रहे आठ लोगों की हत्या कर लूटपाट की थी। कई लोग घायल हुए थे। पुलिस ने मुकदमा लिखकर विवेचना के बाद चार्जशीट दाखिल की तो कोर्ट ने गिरफ्तार डाकू अनुराग मिश्र समेत पांच अपराधियों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। सजा सुनाए जाने के बाद ही 2012 में कोर्ट से जेल ले जाते वक्त अनुराग मानिकपुर रेलवे स्टेशन पर पुलिस कस्टडी से फरार हो गया था। 
 फरारी के दौरान ही उसने अपनी प्रेमिका से शादी कर ली थी जिससे दो बच्चे हैं।