टीचर की पडताड़ना से दो मासूमो ने मौत को गले लगाया, परिजनों ने पडताडिता का आरोप लगाया।

 



मैंहर। बीते दिन 22 नवम्बर दिन षुक्रवार को अलग अलग स्थानों पर छात्र व छात्रा ने बिना गलती किये टीचरों की बेरुखी व बेइज्जती से तंग आकर मौत को गले लगाया, जबकि बीते दिन हुई इस दर्दनाक घटना में जहा युवक अपनी बदनामी के कारण अचानक घर से गायब हुए और अमदरा और मैंहर के बीच जबलपुर रीवा सटल  ट्रेन के नीचे आकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर लिया लेकिन छात्र की ट्रेन से कटी लाश को जो छत विछत थी जिस कारण पहचान नही हुई थी तो जीआरपी ने मैंहर के सिविल अस्पताल के चिर घर मे रखवा दिया उधर युवक के परिजन युवक की तलाश में जुटे थे देर रात तक जब नही पता चला तक म्रतक छात्र के परिजनों ने गुमसुदगी की रिपोर्ट मैंहर थाने में दर्ज करा दी गई वही दूसरे दिन 23 नवंबर को कपड़ो से परिजनों ने छात्र की पहचान की जिसके बाद बहुत सारे बातों का खुलासा होने लगा ,वार्ड नम्बर 14 सराय मुहल्ला के म्रतक मनीष त्रिपाठी पिता रामाआदर्श त्रिपाठी 12 वी का छात्र था, वही इस घटना के दूसरी ओर बदनामी के डर से और आये दिन टीचरों की पडताडित से तंग आकर हाउसिंह बोर्ड कालोनी निवासी समीक्षा सिंह ने अपने घर मे ही फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला को समाप्त कर लिया  ये दोनों छात्र बायो के स्टूडेंट थे और महऋषि विद्या मंदिर में पढ़ते थे वही सूत्रों की माने तो साथ मे पढ़ने वाले छात्रों ने बताया कि बुधवार के दिन इन दोनों को बात करते स्कूल में टीचर ने देख लिया था जिस पर स्कूल के स्टाफ के सामने ही मनीष व समीक्षा को बातों से जलील कर दिया गया जिस कारण ये दोनों तनाव में रहते थे जब ये दोनों ने ये घटना किया तब किसी को भनक तक नही लगी यही नही महृषि स्कूल के टीचरों से बहुत से छात्र परेशान है अगर यही रवैया रहा तो और कई छात्रों को कोई ठोस कदम उठाना पड़ सकता है जिसके जिम्मेदार महृषि स्कूल के संचालक व स्टाफ होगा।



Popular posts from this blog

आंगनबाड़ी केंद्र वार्ड नं 13 में किया गया टीकाकरण कार्यक्रम

कोतमा में राजश्री सहित कई  उत्पादों की कालाबाज़ारी जोरों पर

कोरोना संक्रमित कैदियों को सतना जेल लाना विंध्य के साथ अन्याय : पं. रामनिवास उरमलिया