विदेशी कंपनियों के खिलाफ़ कल शहर के व्यापारी सौपेगें ज्ञापन - अशोक कैट

 


सतना : विदेशी कंपनियों द्वारा लगातार एफडीआई नीतियों का उल्लंघन कर अनैतिक रूप से चोर दरवाजे से भारत का खुदरा व्यापार चौपट कर रहीं हैं। देश के व्यापारियों की शीर्ष संस्था कन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) पूरे भारत में इन कंपनियों के खिलाफ जन जागरुकता अभियान चला कर विदेशी कंपनियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहा है। इसी कड़ी में शहर की प्रमुख संस्थाओं द्वारा मंगलवार प्रातः 11:30 बजे प्रधानमंत्री जी के नाम के नाम ज्ञापन जिलाध्यक्ष महोदय (कलेक्टर सतना) को सौंपने जा रही है।



इसी कड़ी में योगेश ताम्रकार, कमलेश पटेल, चन्द्रशेखर अग्रवाल, विराग जैन, किशोर शर्मा, अशोक दौलतानी, पवन मलिक, रामऔतार चमडिया, राजीव गुप्ता, उमाशंकर अग्रवाल, विराम जैन, अशोक वाधवानी, राजीव वर्मा, दीपक अग्रवाल, अनिल धनवानी, विजय अग्रवाल, संदीप चमडिया, के.जी.गुप्ता, विजय प्रणामी, मनोहर वाधवानी, पवन ताम्रकार, संदीप मंगल, मोहित पुरी, राजेश अग्रवाल, आशीष मंघनानी, जितेंद्र साबनानी, शुशील मंघनानी, संतोष कापडी, गोबिंद छाबडिया, राजेश अग्रवाल (पैकिंग), मनोज अग्रवाल, आदि अनेक व्यापारी भाइयों ने सभी से समय पर कलेक्ट्रेट पहुंचने की अपील की है।
 कैट जिलाध्यक्ष अशोक दौलतानी ने बताया कि व्यापारियों की शीर्ष संस्था कन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स कैट द्वारा लड़ाई हम सबके व्यापार के लिए लड़ी जा रही है, इसलिए 26 नवम्बर मंगलवार को 11 बजे से 12 बजे तक, एक घंटे के लिए सभी कलेक्ट्रेट पहुंचकर विदेशी कंपनियों के विरोध मार्च में अवश्य शामिल हों।
शहर की प्रमुख व्यापारिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों की मौजूदगी में सामूहिक रूप से मिलकर अमेज़न फ्लिपकार्ट द्वारा एफडीआई नीति का उल्लंघन करने पर प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा। 


टीम कैट चैप्टर सतना