ग्राम कोठी में सरहंगों ने घर के अंदर घुसकर किये महिलाओ के साथ जमकर मारपीट

 



बिछिया थाने में शिकायत दर्ज करबाने के बाद आरोपीयो ने रात्रि में लगा दिए घर मे आग जिंदा जलने से बाल बाल बचे घर के सदस्य



रीवा बिछिया थाना क्षेत्र के ग्राम कोठी में दर्जनभर सरहगों ने घर में घुसकर महिलाओं व युवकों के साथ की जमकर मारपीट किये और पीड़ित को  पुलिस को सूचित करने पर जिंदा जला देने की दी गई थी धमकी । पीड़ित  परिवार ने बताया कि घर के मुखिया काम पर निकल गए थे सुबह 9:00 बजे तभी वहीं पड़ोस के रहने वाले अपराधी प्रवित्ति के दर्जनभर सरहंग संदीप साकेत (शेरा) ,शुभम साकेत, जितेंद्र साकेत , मनोज साकेत , निच्चू साकेत , एवं अन्य आरोपियों ने घर के अंदर घुस कर लाठी-डंडे व राड से घर की महिलाओं व भाई भतीज के ऊपर हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया । मारपीट करते हुए सभी आरोपियों ने जान से मार देने की धमकी दिए कि अगर पुलिस में रिपोर्ट किए तो खनके गाड़ देंगे पीड़ित प्रदीप साकेत व पूरा परिवार इस घटना के बाद बहुत डरा व सहमा हुआ है इस घटना की जानकारी पीड़ितों ने डायल हंड्रेड पुलिस को दी मगर डायल हंड्रेड पुलिस सूचना देने  के बाद भी नहीं पहुंची घटनास्थल पर आरोपियों ने खुली धमकी दी है कि घर से बाहर निकले तो जिंदा जला देंगे । वही पीड़ित ने बताया कि मारपीट करने वाले सभी आरोपी अंधा मोड़ कोठी तालाब के पास में रहते हैं और वहीं से गाजा कोरेक्स और  दारू की सप्लाई करते हैं। यह सभी आरोपी आदतन अपराधी हैं जिनके खिलाफ विभिन्न थानों में मुकदमे दर्ज हैं । पीड़ित ने इस घटना की शिकायत रात्री में बिछिया थाने में जाकर नामजद आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करबा दिया था मामला दर्ज करबाने के बाद रात्रि में तकरीबन 3 बजे के लगभग सभी आरोपियों ने पीड़ित के घर मे आग लगा दिए जिससे घर के अंदर सो रहे सभी सदस्य जिंदा जलते जलते बच गए मगर गृहस्ति का घर के अंदर रखा पूरा समान जलकर खाख हो गया है।


रीवा बिछिया पुलिस की घोर लापरवाही आ रही है सामने



रीवा विछिया पुलिस की घोर लापरवाही आ रही है  सामने अगर पीड़ित प्रदीप साकेत की शिकायत के बाद आरोपियो की धर पकड़ कर लेती पुलिस तो ये सभी आरोपी फरियादी व उसके परिवार को जिंदा जलाने की साजिश में कामयाब ना हो पाते मगर बिछिया पुलिस ने ऐसा नही किया जिससे आरोपियों के हौसले बुलंद हो गए और घर के अंदर सो रहे परिवार को जिंदा जलाने के उद्देश्य से घर में आग लगा दिए । 


*बिछिया थाने की पुलिस की कार्यशैली पर उठ रहे कई सवाल अपराधी कोरेक्स व गाजा तस्करों को दे रखे है संरक्षण


*रीवा पुलिस अधीक्षक आबिद खान के भरोसे को तोड़ने में उतारू हैं बिछिया थाने का स्टाफ


 
बिछिया थाने की पुलिस  कर रही है कार्य में लापरवाही बिछिया थाने के कुछ आरक्षक ज्यादातर ग्राम कोठी , कनौजा और भटलो में अक्सर बाइक में सवार होकर दो से तीन की संख्या में देखे जाते है  अपनी अपनी सेटिंग के चक्कर मे जिसकी बजह से इन माफिया के हौसले बुलंद हो चुके है जिससे पुलिस का नही इन शराब माफियाओ को किसी भी प्रकार का खौफ। यह माफिया खुला बोलते हैं कि मैं पुलिस को रखता हूं अपनी जेब में देता हूं रंगदारी। वही पुलिस अधीक्षक रीवा आबिद खान अपनी पुलिस की तारीफ करने से पीछे नही हट रहे है मगर वही पुलिस अपने अधिकारियों के भरोसे पर खड़ा नही उतर पा रही है आखिर क्या बजह है कि इन पुलिस कर्मियों को अपने कप्तान का बिल्कुल भी खौफ नहीं है जोकि अपना थाना छोड़कर ज्यादातर शराब माफियाओं के क्षेत्रों में ही पाए जाते हैं। 




*इतनी बड़ी वारदात होने के 48 घंटे बीत जाने के बाद भी आखिर क्या वजह है कि विछिया पुलिस ने  अपराधियों को हिरासत में लेना उचित नही समझा



रीवा बिछिया थाना क्षेत्र के ग्राम कोठी में इतनी बड़ी वारदात को 10 की संख्या में अपराधियों ने अंजाम दे दिया और पीड़ित की शिकायत दर्ज करवाने के बाद भी पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया तो आरोपियों ने पीड़ित के घर में जिंदा जलाने के इरादे से दाखिल हुए और घर मे सो रहे सदस्यों के घर मे सोते समय आग लगा दिए गनीमत रही घर मे सो रहे सदस्यों की आग की लपट लगने से नींद खुल गई नही तो एक साथ घर के आधा दर्जन सदस्य मौत की नींद में सो जाते और एक बार फिर रीवा जिले में बड़ा लाइन आर्डर की स्थिति उत्पन्न हो सकती थी रीवा पुलिस कप्तान आबिद खान को तत्काल इस मामले को संज्ञान में लेकर आरोपियों की धरपकड़ करने का आदेश देना चाहिए।