जेसीबी मशीन से बनाया जा रहा तालाब

 


*सरपंच तथा इंजीनियर शासन के नियमो दिखा रहे ठेंगा


*काम न मिलने पर मजदूर पलायन करने को मजबूर


मझगवां मामला जनपद पंचायत मझगवां के ग्राम पंचायत कैलाशपुर का है। जहाँ पूर्व से ही कई भ्रस्टाचार किये गए है। जिसकी शिकायत भी की गई थी। जिससे कुछ कार्य कुछ समय के लिए रुके थे। लेकिन अब पुनः एकबार भ्रस्टाचार होना शुरू हो चुके है।


कुछ समय पहले सरपंच मोलिया बाई ने अपने पति जयलाल वर्मा के नाम अपने निजी खेत पर पंचायत द्वारा मेड़ बंधान की स्वीकृति दी थी। था साथ ही अपने खेत मे तालाब का निर्माण कार्य भी शुरू किया था। पर शिकायतो के चलते कार्य को कुछ समय के लिए रोक दिया था। पर अब भगड़ा हार में पुनः जेसीबी मशीन से तालाब का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। 



कैलाशपुर सरपंच मोलिया बाई एवं रोजगार सहायक ममता शिवहरे , इंजीनियर धर्बेन्द्र कोरी शासन के नियमो को ठेंगा दिखा कर सारा कार्य मशीन से करवा रहे है। जबकि मनरेगा योजना में शासन के नियमानुसार सभी कार्य मजदूरों द्वारा करवाया जाना निर्धारित किया गया है। पर कुछ तथाकथित भ्रस्टाचारियो एवं कुछ अधिकारियों की मिलीभगत के चलते सारा कार्य मशीनों से कर फ़र्ज़ी मस्टर रोल के जरिये पैसे का आहरण कर लेते है।


वहीं दूसरी तरफ काम न मिलने के कारण मजदूरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। और गांव छोड़कर काम की तलाश में भटकने को मजबूर है।